अनाथ बच्चों को प्राथमिकता के आधार पर दिया जाएगा एडमिशन

पिछले साल एडमिशन नहीं लेने वाले बच्चों को मिलेगा प्रमोशन

By: Ashtha Awasthi

Published: 11 Jun 2021, 03:28 PM IST

इंदौर। राज्य शिक्षा केंद्र द्वारा गुरुवार से आरटीई के तहत गरीब बच्चों को एडमिशन (Admission) देने की प्रक्रिया शुरू की गई है। ऑनलाइन आवेदन (Online Application) से हर स्कूल की 25 प्रतिशत सीटों पर निजी स्कूलों में बच्चों को एडमिशन दिया जाएगा। इसमें उन बच्चों को खास ध्यान रखा गया है जो कोरोना में अनाथ हुए हैं, और बीते साल एडमिशन लेने से वचित रह गए हैं।

 

school.jpg

इच्छा के अनुसार दिया जाएगा प्रवेश

आरटीई की गाइडलाइन के तहत अनाथ बच्चों को प्राथमिकता के आधार पर एडमिशन दिया जाएगा। मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुसार ऐसे बच्चों को वे जिस स्कूल में चाहेंगे वहां प्रवेश दे दिया जाएगा। बीते साल कोरोना के चलते आरटीई के तहत एडमिशन नहीं दिए गए थे।

ऐसे में जो वंचित रह गए थे उनका प्रमोशन करते हुए आगे की कक्षा में एडमिशन मिलेगा यानी जिस बच्चे ने 2020 में तीन साल की आयु पूरी कर ली है और अगर इसने 2021 नसरी के लिए आवेदन किया तो उसे पहली कक्षा में एडमिशन दिया जाएगा।

Ashtha Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned