उल्लू की मौत पर पर्दा डाल रहा वन विभाग

इलाज में लापरवाही की हुई थी शिकायत : पीएम रिपोर्ट मिलने पर भी नहीं किया खुलासा

By: रमेश वैद्य

Published: 27 Jun 2021, 01:54 AM IST

इंदौर. पशु-पक्षियों के लिए काम करने वाले एक एनजीओ के शेल्टर होम में इलाज के दौरान हुई उल्लू की मौत की जांच ठंडी पड़ गई है। उल्लू के इलाज की जानकारी नहीं दिए जाने कार्रवाई का दावा करने वाले वन विभाग के अफसर अब पर्दा डालने में जुट गए है। शनिवार को पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट मिलने के बावजूद विभाग ने उल्लू की मौक के कारणों का खुलासा नहीं किया।
वन विभाग को हुई एक शिकायत के बाद विजय नगर में संचालित एनजीओ पर मंगलवार को छापा मारा गया था। यहां से दफनाए गए उल्लू के शव को जांच के लिए पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया। अधिकारी नियमों का हवाला करते हुए दावा कर रहे थे कि पीएम रिपोर्ट मिलने के बाद कार्रवाई की जाएगी। शिकायतकर्ता ने एनजीओ पर लापरवाही के गंभीर आरोप लगाते हुए जानकारी दी थी कि उल्लू के इलाज के लिए उसे ड्रिप तक लगाई गई थी।
वन विभाग ने मामले में अब तक किसी के बयान तक नहीं लिए है। शनिवार को उल्लू की पीएम रिपोर्ट मिली तो अधिकारियों ने इसे फाइलों में दबा दिया। दूसरी ओर, अधिकारी भी कार्रवाई के बजाय सिर्फ इतनी बात कह रहे है कि उल्लू की मौत की जानकारी विभाग को दी जाना थी। पहले कार्रवाई की बात करने वाले अधिकारी अब इलाज में लापरवाही की बात को पीएम रिपोर्ट देखे बगैर ही खारिज कर रहे है।
सोमवार को देखेंगे रिपोर्ट
उल्लू की पीएम रिपोर्ट हमें मिल चुकी है। सोमवार को रिपोर्ट देखने के बाद मौत का सही कारण बता सकेंगे। डॉक्टर की निगरानी में वन्यजीवों का इलाज किया जा सकता है। एके श्रीवास्तव, एसडीओ, वन विभाग

रमेश वैद्य Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned