VIDEO ; पीपल्याहाना तालाब बचाने के लिए सडक़ पर उतरे लोग, जमकर किया जिला कोर्ट निर्माण का विरोध

तालाब के पास बन रही नई कोर्ट बिल्डिंग और आज सुबह जिला न्यायाधीश के साथ निगमायुक्त पहुंचे थे निरीक्षण करने

By: Uttam Rathore

Updated: 27 Nov 2019, 12:22 PM IST

इंदौर. पीपल्याहाना तालाब के पास कोर्ट बिल्डिंग का निर्माण किया जा रहा है। इसका निरीक्षण करने आज सुबह जिला न्यायाधीश और निगमायुक्त पहुंचे। बताया जा रहा है कि कोर्ट निर्माण में आ रहे तालाब के पानी को खाली करने की प्लानिंग करने के लिए जिला न्यायाधीश और निगमायुक्त पहुंचे थे। कोर्ट के लिए तालाब का पानी खाली करने की खबर लगने के बाद आसपास के लोगों ने विरोध में प्रदर्शन शुरू कर दिया है।

जिला एवं सत्र न्यायालय ने निगम आयुक्त आशीष सिंह को पत्र लिखा है कि पीपल्याहाना तालाब के पास बन रही कोर्ट बिल्डिंग के पास स्थित कथित तालाब के दोनों ओर प्राकृतिक बहाव को संतुलित करने के लिए नगर निगम द्वारा आउटलेट बनाए गए हैं। इन्हें अनधिकृत व्यक्तियों द्वारा बंद कर दिया गया है। इससे कथित तालाब का प्राकृतिक बहाव अवरुद्ध हो गया है। इस संबंध में क्या कार्रवाई करना और कैसे करना है? इसको लेकर सुबह जिला न्यायाधीश शर्मा व निगमायुक्त सिंह तालाब पर पहुंचे। उनके साथ अपर आयुक्त रजनीश कसेरा और जोन 19 के वैभव देवलासे भी थे। इन्होंने बिल्डिंग का निरीक्षण करने के साथ तालाब बहाव अवरुद्ध होने की स्थिति को देखा। इसके बाद क्षेत्र में खबर फैल गई कि बिल्डिंग निर्माण के लिए तालाब का पानी खाली किया जा रहा है। इसके बाद रहवासियों ने विरोध शुरू कर दिया। इसके साथ ही तालाब को बचाने की तख्तियां लेकर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन करने पहुंचे लोगों ने नारे लगाए कि पीपल्याहाना तालाब करे पुकार... मेरा जीवन आपके हाथ, इंदौर को आगे आना है... पीपल्याहाना तालाब को बचाना है और जल है तो कल है..। प्रदर्शन में भाजपा पार्षद प्रणव मंडल भी पहुंचे।

सिर्फ बिल्डिंग का किया निरीक्षण

इधर, अपर आयुक्त कसेरा ने कहा कि आज सुबह जिला न्यायाधीश शर्मा और निगमायुक्त सिंह के साथ पीपल्याहाना ताालाब के पास बन रही नई कोर्ट बिल्डिंग का निरीक्षण किया है। निर्माण कार्य के साथ आसपास के एरिया को देखा, ताकि बाधाओं को हटाया जा सके। रही बात तालाब के पानी को खाली करने की तो ऐसा कुछ निर्णय नहीं लिया गया है। पता किया जा रहा है कि तालाब को खाली करने की अफवाह कहां से और किसने फैलाई है।

Uttam Rathore Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned