किकी के बाद अब आया ‘प्लैंक चैलेंज’, पूरा करने के लिए करना होगा ये...

किकी के बाद अब आया ‘प्लैंक चैलेंज’, पूरा करने के लिए करना होगा ये...

amit mandloi | Publish: Sep, 04 2018 03:55:28 PM (IST) | Updated: Sep, 04 2018 04:04:32 PM (IST) Indore, Madhya Pradesh, India

इस नए चैलेंज को पूरा करने के लिए वुमंस आउटडोर भी प्लान कर रही हैं।

इंदौर. स्लिम और ट्रिम बॉडी के लिए असरदार प्लैंक चैलेंज मुंबई के बाद अब इंदौर पहुंच गया है। टाइट एंड टोंड एब्स का ये सीक्रेट तेजी से टॉप फिजिकल एक्टिविटी में शामिल हो गया है। वजन कम करने, मसल्स को मजबूत बनाने और स्ट्रेस कम करने में मददगार इस एक्सरसाइज को शहर की फिटनेस फ्रिक वुमंस का ग्रुप आउटडोर भी प्लान कर रहा है।

फिटनेस के लिए अभी तक स्क्वेट, ट्रेडमिल रन, जिम रॉविंग, स्टेशनरी साइकिलिंग जैसे चैलेंज सुने होंगे, लेकिन इस नए चैलेंज को पूरा करने के लिए वुमंस आउटडोर भी प्लान कर रही हैं। एंटरप्रेन्योर प्राची अग्रवाल बताती हैं कि हमारे लिए प्लैंक चैलेंज एक्सरसाइज का फॉर्मेट पूरी तरह नया है, इसलिए शुरुआत में इसे करने में परेशानी हुई। किसी ने 30 सेकंड में ही हार मान ली तो कोई पूरे एक मिनट तक करता रहा। ग्रुप के साथ करना काफी मोटिवेटिंग रहा।

पार्क में ग्रुप के साथ चैलेंज

plank

फिटनेस फ्रिक नेहा राठी, सोनाली सचदेवा ने बताया, पहले भी फिटनेस चैलेंज एक्सेप्ट किए हैं, लेकिन प्लैंक बिलकुल अलग है। इसे 10-15 ग्रुप मेंबर्स के साथ पार्क में किया। इसका उ²ेश्य शहर की महिलाओं को फिटनेस के प्रति जागरूक करना था। ग्रुप के अलावा हम घर में व्यक्तिगत रूप से भी प्लैंक करते हैं।

दिनभर रहती है फ्रेशनेस

होममेकर प्रिया पितालिया बताती हैं कि इस तरह के वर्कआउट से न सिर्फ फिटनेस लेवल बढ़ता है, बल्कि पूरे दिन फ्रेश और एनर्जेटिक फील होता है। यह फ्लेट टमी के लिए सबसे बेस्ट एक्सरसाइज है। श्वेता अग्रवाल ने कहा, इस तरह के चैलेंज ज्यादा से ज्यादा वुमंस तक पहुंचने चाहिए। दोस्त, रिश्तेदार सभी के साथ मिलकर यह एक्सरसाइज करना चाहिए।

पोजिशन के हिसाब से बदलती है एक्सरसाइज

प्लैंक एक्सरसाइज अलग-अलग पोजिशन के हिसाब से बदलती है। इसके करने के कई प्रकार होते हैं।

कॉमन फुल प्लैंक आर्म एक्सरसाइज- पुश-अप्स पोजिशन में आएं। शरीर बीच से न झुकने दें। अब जितनी देर हो सके इसी स्थिति में रहने की कोशिश करें। सांस भी रोके रखने की कोशिश करें।

मेडिसिन बॉल प्लैंक- प्लैंक पोजिशन में आने के बाद जमीन के बजाय पैर मेडिसिन बॉल (बड़े आकार की एक्सरसाइज बॉल्स) पर रखें। आसान से दिखने वाले प्लैंक में काफी मेहनत लगती है।

वन लेग प्लैंक- एक पैर पर प्लैंक करना इस एक्सरसाइज का एक और चैलेंजिंग वेरिएशन होता है। इस में साधारण प्लैंक की तरह ही कोहनियां जमीन पर ही होती हैं पर एक पैर हवा में होता है।

ये होते हैं फायदे

- पेट की मसल्स मजबूत होती हैं। पूरे शरीर को मजबूत बनाती है और बॉडी शेप में रखती है। पेट की चर्बी कम करने के लिए भी यह कारगर है।

- कोर मसल्स को मजबूत बनाने में प्लैंक एक्सरसाइज सिट-अप्स और क्रंच एक्सरसाइज से भी अधिक कारगर है।
- एक्सरसाइज से पीठ के निचले हिस्से की मांसपेशियां ज्यादा एक्टिव होती हैं। गर्दन और रीढ़ की हडड्ी को भी सपोर्ट देती है और इसे मजबूत बनाती है।

- शरीर का संतुलन अच्छा होता है।

- ऑस्टियोपोरोसिस जैसे रोगों से बचाव होता है।

- सिक्सपैक एब्स भी बन जाते हैं।

Ad Block is Banned