खुद गलत नंबर प्लेट लगाकर दूसरों का चालान बना रही पुलिस

- एसएसपी के आदेशों को भी नहीं मान रहे पुलिसकर्मी

 

By: Lakhan Sharma

Updated: 23 Apr 2019, 11:00 AM IST

इंदौर। इन दिनों शहरभर में पुलिस अलग-अलग चौराहों पर चालानी कार्रवाई कर रही है। यातायात पुलिस से परे थानों की पुलिस भी शाम होते ही अपने थाना क्षेत्र के प्रमुख चौराहों पर बेरिकेडिंग कर चालानी कार्रवाई शुरू कर देती है। एमजी रोड थाना की पुलिस नगर निगम चौराहे पर हर दिन सैकड़ों चालान बना रही है, लेकिन जो पुलिसकर्मी आम लोगों के चालान बना रहे हैं वे खुद ही नियम तोड़ रहे हैं। न तो पुलिसकर्मियों की गाडिय़ों पर नंबर सही लिखे हैं न ही उनके पास हेलमेट हैं। बावजूद इसके इन नियम तोडऩे पर आम लोगों से ५०० रुपए लिए जा रहे हैं। जब आम आदमी पुलिस को नियम पालन करने का कह रहा है तो उसे अभद्रता करने लगते हैं। जबकि एसएसपी रुचिवर्धन मिश्र ने सभी पुलिसकर्मियों को पहले स्वयं मोटर व्हीकल एक्ट के पालन करने के निर्देश दिए हैं। इसके बाद चालानी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

- खुद के वाहन पर गलत नंबर

कल शाम भी एमजी रोड थाने की पुलिस नगर निगम चौराहे पर चालान बना रही थी। यहां वाहनों को रोककर हेलमेट नहीं पहनने, गलत नंबर प्लेट होने, कागजात साथ नहीं रखने के नाम पर चालान बनाए जा रहे थे। यहां मौजूद एएसआई सुरेंद्र दान से जब एक वाहन चालक ने कहा कि साहब आपकी गाड़ी पर भी तो गलत नंबर है, हेलमेट भी नहीं है आपके पास। इस गाड़ी का भी चालान बनाइए तो एएसआई कन्नी काटने लगे। जबकि वे आम लोगों की गाडिय़ों पर इस तरह नंबर लिखे होने पर चालान बना रहे थे। मोटर व्हीकल एक्ट का उल्लंघन कर रहे एएसआई का यहां विरोध होने लगा। इसी समय यहां कार्रवाई में सहयोग कर रहे अन्य पुलिसकर्मियों की गाडिय़ों पर भी गलत नंबर लिखे होने के साथ ही नंबर प्लेट तक नहीं थी सिर्फ पुलिस का लोगो लगा हुआ था।

- यातायात विभाग करे हम पर कार्रवाई

जब एक वाहन चालक ने खुद की गाड़ी का चालान बनने के बाद इसी नियम से एएसआई सुरेंद्र दान से कहा कि आपकी गाड़ी पर भी तो गलत नंबर हैं। इसका चालान भी बनाइए तो कहने लगे हम नहीं बनाते चालान। यातायात विभाग करे हम पर कार्रवाई। वहीं जब थाना प्रभारी राजेंद्र चतुर्वेदी से जब इस संबंध में बात की गई तो कहना था कि नंबर प्लेट पर गलत क्या है यानी थाना प्रभारी को ही इसकी जानकारी नहीं जबकि उनके नाम की सील और हस्ताक्षर लगे रसीद कट्टों से एएसआई चालान बना रहे थे।

- नहीं लिख सकते ऐसे नंबर

नियम सभी के लिए समान हैं। इस तरह से गाड़ी पर नंबर नहीं लिखे हो सकते। दूसरों पर कार्रवाई करने से पहले हमें खुद को नियमों का पालन करना चाहिए। हम संबंधित पर नियमानुसार कार्रवाई करेंगे। पुलिस अगर गलती कर रही है तो पुलिस का भी चालान बनेगा।

महेंद्र जैन, एएसपी ट्रैफिक

Lakhan Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned