सुप्रीम कोर्ट का आदेश : रात 10 बजे बाद पटाखे फोडऩे वालों को पुलिस ने दबोचा

सुप्रीम कोर्ट का आदेश : रात 10 बजे बाद पटाखे फोडऩे वालों को पुलिस ने दबोचा

Hussain Ali | Publish: Nov, 10 2018 12:48:22 PM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

शहर में पांच अलग-अलग थाना क्षेत्रों में पुलिस ने रात 10 बजे बाद पटाखे फोडऩे वाले लोगों पर कार्रवाई की है

इंदौर. शहर में पांच अलग-अलग थाना क्षेत्रों में पुलिस ने रात 10 बजे बाद पटाखे फोडऩे वाले लोगों पर कार्रवाई की है, लेकिन एक भी थाने पर आरोपितों की जानकारी पुलिस ने नहीं दी। सभी दूर अज्ञात लोगों पर प्रकरण दर्ज किया गया। कहीं पुलिस ने जिला प्रशासन के अधिकारियों का हवाला दिया तो कहीं पुलिस ने सुप्रीम कोर्ट का हवाला देकर केस दर्ज किया है।

एमआईजी थाना पुलिस ने फरियादी दीपक अग्निहोत्री कि शिकायत पर पांच अज्ञात युवकों पर धारा 188 और कोलाहल अधिनियम के तहत केस दर्ज किया है। फरियादी ने बताया कि चार पांच लडक़े रात 10 बजे बाद तेज आवाज वाले फटाके फोड़ रहे थे। मना किया तो भी नहीं माने। इसके बाद थाने जाकर प्रकरण दर्ज कराया। हालांकि पुलिस ने आरोपितों को अज्ञात रखा है। दूसरा मामला विजय नगर थाना क्षेत्र का है। यहां स्वर्णबाग कॉलोनी में कुछ लोग १० बजे बाद पटाखे फोड़ रहे थे। पुलिस ने यहां भी अज्ञात युवकों पर प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू की है। इसमें सुप्रीम कोर्ट में का हवाला दिया गया है। तीसरा मामला लसूडिय़ा थाना क्षेत्र की स्कीम नंबर 136 के चौराहे का है। यहां पुलिस ने कलेक्टर के आदेश का हवाला देते हुए देर रात पटाखे फोड़ रहे लोगों पर प्रकरण दर्ज किया है। हालांकि इसमें भी आरोपित अज्ञात ही रखे गए हैं। चौथी एफआईआर खजराना थाना क्षेत्र के एमआर 9 स्थित महक वाटिका की है। यहां पुलिस ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश का हवाला देते हुए 10 बजे बाद पटाखे फोडऩे वाले अज्ञात आरोपितों पर प्रकरण दर्ज किया है।

पांचवीं एफआईआर कनाडिय़ा रोड की है। जहां कनाडिय़ा पुलिस ने अज्ञात आरोपितों पर प्रकरण दर्ज किया है। यहां पुलिस ने एफआईआर दर्ज की और बताया कि सुप्रीम कोर्ट ने 8 से 10 बजे का समय पटाखे के लिए रखा था, लेकिन कुछ लोग रात 10 से 2 बजे तक पटाखे फोड़ रहे थे। ताज्जुब की बात है कि एक भी थाना क्षेत्र में पटाखे फोडऩे वाले नामजद आरोपित पुलिस को नहीं मिले।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned