scriptPolice remanded for 5 days | एडिशनल कमिश्नर के सामने रौब झाडऩे पहुंच गया था यह नकली इंटरपोल अधिकारी, अब जोड़ रहा हाथ | Patrika News

एडिशनल कमिश्नर के सामने रौब झाडऩे पहुंच गया था यह नकली इंटरपोल अधिकारी, अब जोड़ रहा हाथ

locationइंदौरPublished: Nov 14, 2022 04:33:29 pm

पुलिस ने 5 दिन के लिए रिमांड पर लिया

एडिशनल कमिश्नर के सामने रौब झाडऩे पहुंच गया था यह नकली इंटरपोल अधिकारी, अब  जोड़ रहा हाथ
एडिशनल कमिश्नर के सामने रौब झाडऩे पहुंच गया था यह नकली इंटरपोल अधिकारी, अब जोड़ रहा हाथ
इंदौर. पौने दो करोड़ के लेन-देन का मामला निपाटने के नाम पर साढ़े 3 लाख रुपए लेकर ठगी करने वाले फर्जी इंटरपोल अफसर को पुलिस ने 5 दिन के लिए रिमांड पर लिया है। आरोपी ने एक जमीन कारोबारी से भी करोड़ों का लेन-देन निपटानेे के लिए 15 लाख रुपए लिए थे लेकिन उसने रिपोर्ट नहीं लिखाई है। गिरफ्त में आया फर्जी इंटरपोल अधिकारी विपुल करीब 2 महीने पहले एडिशनल कमिश्नर राजेश हिंगणकर के पास पहुंच गया था। हिंगणकर को आशंका हुई तो उन्होंने डीसीपी क्राइम निमिष अग्रवाल के पास भेज दिया। इसी मामले में शिकायत लेकर आया था। हालाकि समय कार्रवाई नहीं हुई। एमआइजी पुलिस की गिरफ्त में बैठा फर्जी अधिकारी अब पुलिस के हाथ जोड़ रहा है।
एमआइजी पुलिस ने पीयूष नेमा की शिकायत पर विपुल शैफर्ड को गिरफ्तार किया है। पीयूष को कमलेश पांचाल से पौने दो करोड़ रुपए लेना था। विपुल ने खुद को इंटरपोल का अधिकारी बताते हुए मामला निपाटने की बात की। करीब साढ़े 3 लाख रुपए नकद लिए और होटल में रहकर वहांं का भी लाखों का बिल भरवाया। आरोपी होटल के महंगे सुइट में ठहरा हुआ था जिसका करीब 10 लाख का बिल बना था। टीआइ अजय वर्मा के मुताबिक, आरोपी विपुल को कोर्ट में पेश कर 18 नवंबर तक रिमांड पर लिया है। आरोपी की गिरफ्तारी की जानकारी मिलने पर एक जमीन कारोबारी भी थाने पहुंचा था। वहां पर अफसरों को बताया कि उसका भी जमीन कारोबारी से करोड़ों का लेन देन है। उस लेन देने को निपटाने के लिए विपुल को 15 लाख रुपए दे चुका है। कुछ अन्य कारोबारियों ने भी लाखों दिए है, हालांकि विपुल ने इनकार किया। 15 लाख देने का दावा करने वाले कारोबारी ने भी रिपोर्ट लिखाने से इनकार कर दिया।
आरोपी मूल रूप से इलाहाबाद का निवासी है और एमबीए करने के बाद कई मल्टीनेशनल कंपनी में नौकरी कर चुका है। अंग्रेजी में बात करता है, खुद को साइबर एक्सपर्ट भी बताता है। कई गंभीर मामलों में साइबर जांच कर पुलिस की मदद का दावा भी करता है। उसके पास कई पुलिस अधिकारियों के नंबर है, हालांकि नजदीकी की बात सामने नहीं आई है। उसकी पत्नी भी बैंक मैनेजर है। आरोपी का कहना है कि उसने इंटरनेट के जरिए आर्डर कर फर्जी पहचान पत्र बुलाया था लेकिन पुलिस का मानना है कि उसने यह बनवाया है। इस मामले में जांच चल रही है।

सम्बधित खबरे

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

गुजरात चुनाव LIVE: पहले चरण के मतदान के सात घंटे पूरे, तीन बजे तक 48.48 % वोटिंग'कांग्रेस वल्लभ भाई पटेल व अंबेडकर का करती है विरोध', गुजरात में बोले योगी आदित्यनाथश्रद्धा हत्याकांड के आरोपी आफताब का दो घंटे चला नार्को टेस्ट, कई राज का हुआ खुलासामुंबई में कोरियन महिला यूट्यूबर से छेड़छाड़, वीडियो वायरल होने के बाद 2 गिरफ्तारगुजरात चुनावः खरगे के रावण वाले बयान पर बोले PM मोदी- जितना कीचड़ उछालोगे उतना कमल खिलेगादिल्ली, बेंगलुरु, वाराणसी हवाईअड्डों पर पेपरलेस एंट्री, जानिए प्रक्रिया व अन्य डिटेल्सदिल्ली में तीन नहीं बिकेगी शराब, बैचेन हुए शराबीदिसंबर में 14 दिन बैंकों में रहेगी छुट्टी, जानिए राज्यों के अनुसार पूरी लिस्ट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.