आईडीए की एमआर-12 बायपास को वाया ट्रांसपोर्ट हब जोड़ेगी एबी रोड से

सडक़ के टेंडर जारी करने की तैयारी, ट्रांसपोर्ट हब के 60 प्रतिशत जमीन मालिक भी तैयार

By: हुसैन अली

Updated: 01 Jul 2019, 01:25 PM IST

इंदौर. महानगर की ओर बढ़ रहे शहर के फैलाव और सडक़ों पर ट्रैफिक के दबाव को देखते हुए नगर निगम और आइडीए ने मास्टर प्लान सडक़ों को बनाने का काम शुरू कर दिया है। आइडीए एमआर-12 बनाने की तैयारी कर रहा हैं। 15 करोड़ की लागत से बनने वाली यह सडक़ बायपास को एबी रोड पर तलावली चांदा तालाब के समीप जोड़ेगी। 3 किमी की इस सडक़ का बड़ा हिस्सा ट्रांसपोर्ट हब से जाएगा। जिससे आइडीए को इसे विकसित करने में मदद मिलेगी और एमआर-10 व 11 से भी भारी वाहनों की संख्या में कमी आएगी।

आइडीए ने इसके लिए दो चरण की योजना बनाई गई है। पहले चरण के लिए टेंडर जारी किया जा रहा है। 60 फीट चौड़ाई की इस रोड को फोर लेन बनाने की योजना है। सर्विस रोड, स्टार्म वाटर लाइन व अन्य हिस्से का निर्माण बाद में होगा। आईडीए सीईओ विवेक श्रोत्रिय ने बताया, इस समय शहर की सबसे बड़ी समस्या भारी वाहनों की आवाजाही से ट्रैफिक जाम होना है। शहर में भारी वाहनों को क्रास करने के लिए जो लिंक रोड है, अधिकांश सघन रहवासी क्षेत्रों का हिस्सा बन गए हैं। इसके अलावा ट्रांसपोर्ट नगर भी मध्य शहर के व्यस्ततम कमर्शियल क्षेत्र का हिस्सा बन गया है। हाल ही में प्रशासन ने लोहामंडी के कारोबारियों को निरंजनपुर स्थित नई लोहा मंडी में शिफ्ट किया है। हब बनने से काफी आसानी होगी।

किसानों से चर्चा जारी
एमआर-12 के लिए आइडीए योजना-177 लागू कर चुका है। यह सडक़ दो हिस्सों में हैं। पहला हिस्सा बायपास से एबी रोड व दूसरा एबी रोड से भंवरासला चौराहा उज्जैन रोड तक है। इसके लिए अनुबंध के आधार पर किसानों से चर्चा कर जमीन अधिग्रहण के प्रयास किए जा रहे हैं। अधिक समस्या एबी रोड से भौरासला के बीच है। इस हिस्से में शकरखेड़ी, लसुडि़या मोरी, कैलोद हाला, भांग्या, कुमेर्डी व भंवरासला गांव की जमीनें आएंगी।

ये होगा फायदा
इसके बनने से बायपास से वाहन सीधे एबी रोड पर आ जाएंगे, यहां से निरंजनपुर तक पहुंचेगे। नया ट्रांसपोर्ट हब विकसित करके भारी वाहनों का बड़ा हिस्सा शहर के बाहर ही रखा जा सकता हैं। क्योंकि इस सडक़ के बनने से हब को सीधे बायपास से कनेक्टिविटी मिल जाएगी। वाहन को एमआर-10 तक आने की जरूरत ही नहीं होगी। देवास नाका क्षेत्र के रहवासियों को भी सीधे बायपास से कनेक्टिविटी मिल सकेगी।

ऐसी होगी सडक़
बायपास से भवंरासला चौराहे तक 9 किमी की 60 फीट चौड़ी सडक़ दो चरण में निर्माण होगा। पहला चरण में बायपास से एबी रोड तक का 3 किमी का हिस्सा बनेगा। दूसरे चरण में एबी रोड से उज्जैन रोड के लिए अनुबंध आधार पर ले कर निर्माण करेंगे। 15 करोड़ की लागत से बनेंगी फोर लेन सडक़। एमआर- 10 और 11 से कम होंगे भारी वाहन।

कनेक्टिविटी नहीं
बायपास से भारी वाहनएमआर-11 या एमआर-10 होकर एबी रोड आते हैं। उज्जैन रोड व धार रोड जाने के लिए भी यही विकल्प हैं। इसमें भी एमआर-11 का कुछ हिस्सा बना ही नहीं हैं। जिससे योजना-136 व अन्य के व्यस्ततम सडक़ों से ही निकला होता हैं। एमआर-12 पूरा बनने से दो फायदें होंगे, पहला बायपास से उज्जैन रोड जुड़ेगा और ट्रांसपोर्ट हब के बायपास व एबी रोड का रास्ता खुलेगा।

हुसैन अली
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned