सीएम कमलनाथ ने इन अधूरी सडक़ों की मांगी रिपोर्ट, सामने आई ये बाधाएं

सीएम कमलनाथ ने इन अधूरी सडक़ों की मांगी रिपोर्ट, सामने आई ये बाधाएं

Reena Sharma | Updated: 02 Jun 2019, 02:10:42 PM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

पीएस संजय दुबे ने दिया सीएम के समक्ष प्रजेंटेशन

इंदौर. मेजर रोड (एमआर) में आ रही बाधाएं जल्द दूर होंगी। शनिवार को सीएम कमलनाथ ने इन अधूरी रोड में आ रही परेशानी और बाधाओं को लेकर रिपोर्ट तलब की है। नगरीय प्रशासन विभाग के प्रमुख सचिव संजय दुबे ने मुख्यमंत्री के समक्ष प्रजेंटशन देकर इनके पूरी होने से शहर के यातायात को राहत मिलने के संबंध में जानकारी दी। एमआर 11 , एमआर 9, एमआर 5 और एमआर 3 का काम लंबे समय से बाधित हो रहा है। इन चारों प्रमुख मार्ग के निर्माण होने से शहर की कनेक्टिविटी सीधे बायापास और सुपर कारिडोर से हो जाएगी। पीएस दुबे ने भोपाल में सीएम प्रजेंटेशन में बताया कि एमआर 9 में सबसे अधिक बाधाएं हैं। इस मार्ग के तैयार होने से इस क्षेत्र का बायपास से सीधे संपर्क हो जाएगा। वहीं एमआर ५ के तैयार होने से राजबाड़ा की सीधी कनेक्टिविटी सुपर कॉरिडोर हो जाएगी। सीएम ने अधिकारियों को दिक्कतों को दूर करने के लिए योजना तैयार करने के निर्देश कर पूरी रिपोर्ट तलब की है।

मास्टर प्लान के प्रमुख सडक़ों का होगा सीमांकन
मास्टर प्लान की प्रमुख सडक़ों का सीमांकन किया जाएगा और उनकी बाधाओं को चिह्नित कर जल्द हटाया जाएगा। इस संबंध में शनिवार को संभागायुक्त आकाश त्रिपाठी ने कलेक्टर और सीईओ आईडीए को निर्देश दिए कि राजस्व और इंदौर विकास प्राधिकरण का संयुक्त दल गठित करें। इंदौर शहर के मास्टर प्लान के रोड आरई-2, एमआर-3, एमआर-5, एमआर-8 और एमआर-9 का शेष भाग तथा एमआर-11 एवं एमआर-12 का टीएसएम द्वारा सीमांकन कराया जाए। कमिश्नर ने इन प्रमुख मार्गों से लगी शासकीय और अतिक्रमण वाली भूमि को चिह्निकिंत करते हुए 15 दिन में संयुक्त प्रतिवेदन देने के निर्देश दिए।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned