गांव में नई राशन दुकानों में समितियां की नहीं रूचि

तीन बार तारीख बढ़ाए जाने के बाद भी महज आनलाइन आएं दो आवेदन

By: amit mandloi

Published: 24 May 2018, 06:12 AM IST

१२६ गांवों में खोली जानी है दुकानें

इंदौर। उपभोक्ता भंडार विहिन गांवों में सरकार की मंशा है कि नई दुकानों खोली जाएं, लेकिन इस प्रक्रिया में समितियां रूचि ही नहीं ले रही है। जिस वजह से तीन बार तारीखे बढ़ाई जा चुकी है। १५ मई आखरी तारीख थी जो निकल चुकी है। महज दो ही समितियों ने इस मामले में रूचि दिखाई है। दूसरी और शहर में खुलने वाले इन दुकानों का मामला अभी कोर्ट के स्टे के कारण लंबित है।
खाद्य एवं आपूर्ति विभाग से मिली जानकारी के अनुसार इंदौर जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में सरकार नई राशन दुकानें खोल रही है। इन उपभोक्ता भंडारों को लिए आनलाइन आवेदन बुलाएं गए, लेकिन समितियां आगे नहीं आई। महज दो समितियों ने ही रुचि दिखाई है। जबकि इंदौर जिले के १२६ गांवों मंे इन उपभोक्ता भंडार खोले जाना है। जानकारों की माने तो बढ़ते खर्चों के चक्कर में समितियां रूचि नहीं ले रही है। इसी पीछे बड़ा कारण पीडीएस का आनलाइन होना भी है।

जिले में ५१५ दुकानें हो रही संचालित-
विभाग के अनुसार जिले के ग्रामीण अंचलों में वर्तमान में ५१५ दुकानें चल रही है। सरकार की मंशा हर गांव में राशन दुकान हो, इसीलिए ग्रामीण क्षेत्रों में १२६ दुकानों खोले जाने की प्रक्रिय चल रही है।

२६ नई दुकानों खुलेंगी- बताया जा रहा है कि पूर्व में २६ दुकानों का आवंटन हो चुका है। जिनका आगामी जुलाई महीने से संचालन शुरू हो जाएगा। दूसरी और शहरी क्षेत्र में भी दुकानों खोली जाना है, लेकिन पूरा मामले में कोर्ट द्वारा स्थागन दिए जाने से प्रक्रिया लंबित है।
समितियां नहीं आगे आ रही-

ग्रामीण क्षेत्रों में दुकानों के आवंटन के लिए तीन बार आनलाइन आवेदन बुलाए जा चुके है, लेकिन समितियों द्वारा आवेदन नहीं किए जा रहे है। जिले में १२६ नई दुकानों खोली जाना है।
आरपी शर्मा

सहायक खाद्य आपूॢत अधिकारी
खाद्य एवं आपूर्ति विभाग

 

amit mandloi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned