450 करोड़ के इंतजार में लटकाया रेल रेस्टोरेंट का प्रोजेक्ट

पर्यटन निगम के प्रोजेक्ट के लिए मिलने वाले 450 करोड़ के इंतजार में निगम ने अपने प्रोजेक्ट पर लगाया विराम।

By: Narendra Hazare

Published: 22 Dec 2015, 11:42 PM IST

इंदौर। शहर में पर्यटन को विस्तार देने के लिए प्रतिक्षित योजनाएं एक बार फिर अधर में अटक गई। राजबाड़ा लाइट एंड साउंड शो पर दो करोड़ खर्चने के बाद भी पर्यटन निगम इसका क्रियान्वयन नहीं करवा पा रहा। केंद्रीय राशि के अभाव में रेल रेस्टोरेंट का निर्माण भी रूक गया। निगम के मुताबिक निगम को केंद्र से 450 करोड़ की राशि नहीं मिली। नतीजा, प्रदेशभर में निगम के 100 से ज्यादा प्रोजेक्ट पर अस्थायी विराम लगा है।

पर्यटन निगम की रेल रेस्टोरेंट बनाने की योजना राशि के अभाव में अटक गई। निगम ने रेलवे से कोच लेने और उसे इंदौर लाने के बाद भी रेस्टोरेंट की शुरुआत नहीं कर सका। निगम से मिली जानकारी के मुताबिक रीजनल मैनेजर अनिल सक्सेना और भोपाल स्थित निगम मुख्यालय के आला अधिकारियों को इसकी जगह ही अच्छी नहीं लगी।

लालबाग के पीछे बन रहे इस रेस्टोरेंट का काम ही अफसरों ने रोक दिया। निगम सूत्रों के मुताबिक अफसरों ने जगह का बहाना बनाया है। निगम को पर्यटन के विस्तार के लिए केंद्र से मिलने वाली 450 करोड़ की राशि ही नहीं मिली। एेसे में प्रदेशभर में पर्यटन की योजनाओं को लम्बित छोड़ दिया गया है।

जिले से यह सुविधाएं भी छिनी

इंदौर के इतिहास को जीवंतता देने के लिए निगम ने राजबाड़ा पर जिस लाइट एंड साउंड शो के लिए दो करोड़ रुपए खर्च कर दिए। उसका संचालक भी अधर में अटक गया। हाईकोर्ट में लगी एक याचिका ने लाइट एंड साउंड शो को ही रोक दिया। केंद्रीय राशि के अभाव में प्रदेश में एयर टैक्सी योजना भी धराशायी हो गई।

निगम के शर्तों के मुताबिक ठेका एजेंसी सुप्रीम एविएशन ने 15 करोड़ के विमान तो खरीदे, लेकिन डीजीसीए से एनओसी का इंतजार हो रहा था। निगम ने तय समय में टैक्सी के संचालन न होने पर एविएशन का अनुबंध समाप्त कर दिया।
Narendra Hazare
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned