छपटकी छत नीचे परिवार सहित रहने को मजबूर रेल कर्मचारी

महू रेलवे स्टेशन के रेलकर्मी जिन रेलवे क्वाटर्स में रह रहे है, उनमे बारिश के दौरान पानी टपक रहा है। यह समस्या आज की नहीं, चार साल से चली आ रही है। इसके साथ कई समस्याओं से भी रेल कर्मचारी जूझ रहे है।

By: Sanjay Rajak

Published: 07 Sep 2021, 10:00 AM IST

डॉ. आंबेडकर नगर( महू).

महू रेलवे स्टेशन के रेलकर्मी जिन रेलवे क्वाटर्स में रह रहे है, उनमे बारिश के दौरान पानी टपक रहा है। यह समस्या आज की नहीं, चार साल से चली आ रही है। इसके साथ कई समस्याओं से भी रेल कर्मचारी जूझ रहे है। सोमवार को इन कर्मचारियों को सब्र का बांध टूट गया और रेलवे इंजीनियर के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। और अपनी मांगों को लेकर एक बार फिर ज्ञापन दिया।

सोमवार दोपहर वेस्टर्न रेलवे मजदूर संघ द्वारा अपनी मांगों को लेकर सहायक मंडल इंजीनियर डीएस चावला के कार्यालय के पास जमकर विरोध प्रदर्शन किया। इंजीनियर चावला मुर्दाबाद के नारे भी लगाए। वेस्टर्न रेलवे मजदूर संघ के संयुक्त मण्डल मंत्री कैलाश भारती ने बताया कि रेल कर्मियों की समस्याओं को लेकर कई बार इंजीनियर डीएस चावला लिखित में शिकायत दे चुके है। लेकिन वे समस्याओं को लेकर गंभीर नहीं है। वेस्टर्न रेलवे कॉलोनी के रेल आवासों की छत लिकेज को ठीक करने के लिए 4 वर्षो से मांग की जा रही है। लेकिन इसे लेकर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही। जिसके कारण कर्मचारियों और उनके परिवार को बारिश में टपकती छत के नीचे रहना पड़ रहा है।

कॉलोनी में डाल दिया मलबा

ठेकेदार द्वारा रेलवे कॉलोनी में कार्य के बाद मलबा वहीं फैला दिया जाता है। जिससे कालोनी में गन्दगी रहती है। रेलवे कॉलोनी से होकर गुजरने वाले महू-कोदरिया रोड की अनुमति मिलने के बाद भी रोड खोद कर उसका मलबा यहा-वहां कालोनी में फैला दिया गया है। रेलवे कॉलोनी का पुताई का कार्य पिछले कुछ सालों से दीपावली के बाद होता है। जबकि ज्यादातर लोग अपना घर दीपावली पर ही पुताई करवा लेते है। जिससे पुताई आधी आधुरी ही होती आ रही है। प्रदर्शन के दौरान संघ के पदाधिकारी राकेश कुमार, रोशनलाल कौशल, बलराम बडग़ोत्या, राधेलाल रायकवार, शिवशंकर यादव, मो. कासिम बंशीलाल आदि मौजूद थे।

Sanjay Rajak Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned