गुरुवार को राखी... लेकिन अब तक दुकानें नहीं हुई आवंटित

गुरुवार को राखी... लेकिन अब तक दुकानें नहीं हुई आवंटित

Reena Sharma | Updated: 08 Aug 2019, 12:12:42 PM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

निगम अफसरों की लेटलतीफी, आगे-पीछे घूम रहे व्यापारी, आज रसीद कटने की उम्मीद

इंदौर. अगले गुरुवार को रक्षाबंधन है, लेकिन कृष्णपुरा छत्री पर अब तक दुकानें नहीं लगी हैं। व्यापारी नगर निगम अफसरों के आगे-पीछे घूम रहे हैं, लेकिन क्षेत्रीय कांग्रेस पार्षद के दबाव में परमिशन नहीं मिल रही। मार्केट विभाग अफसरों ने व्यापारियों से वादा किया था कि बुधवार को दुकान आवंटित कर देंगे, लेकिन वे इससे मुकर गए।

हर वर्ष कृष्णपुरा छत्री पर राखी की दुकानें लगती हैं। कई वर्षों से यहां जो लोग दुकानें लगाते आ रहे हैं, उन्हें इस बार दुकान की परमिशन मिलने में देरी हो रही है। क्षेत्रीय पार्षद अंसाफ अंसारी उन लोगों की दुकानें लगवाने की निगम में पैरवी कर रहे हैं, जो वर्षभर वहां जूते-चप्पल और कपड़े बेचते हैं। इसके चलते हर वर्ष लगने वाली 51 दुकानों की जगह इस बार 80 के आसपास आवेदन निगम मार्केट विभाग को मिल गए हैं, क्योंकि कांग्रेस पार्षद अंसारी से जुड़े तकरीबन 26 लोगों ने भी आवेदन किए हैं।

इनकी संख्या बढऩे पर निगम के सामने समस्या खड़ी हो गई है कि 51 और 26 सहित 77 दुकानें कैसे लगाई जाएं। इसके साथ ही प्रदेश में कांग्रेस की सरकार होने का फायदा उठाते हुए पार्षद अंसारी पहले उनके लोगों को दुकानें लगाने की परमिशन देने के लिए निगम अफसरों पर दबाव अलग बना रहे हैं। कहना है कि उनके लोगों ने पहले आवेदन किया है। इसलिए उनको दुकानों का आवंटन पहले हो, जबकि वर्षों से दुकान लगाते आ रहे व्यापारियों का कहना है कि पहले उन्हें दुकान मिले। इस उलझन में फंसे मार्केट विभाग के अफसरों ने फैसला लेने की गेंद आयुक्त आशीष सिंह के पाले में फेंक दी है।

अब आयुक्त सिंह आज फैसला करेंगे कि दुकान लगाने के लिए पहले परमिशन किसे दी जाए। दुकान लगाने के लिए परमिशन के फेर में उलझे व्यापारियों के सामने समय की समस्या अलग खड़ी हो गई है। रक्षाबंधन 8 दिन बाद 15 अगस्त को है, लेकिन दुकान अभी तक नहीं लग पाई है। ऐसे में व्यापारियों को नुकसान होने का डर भी सता रहा है, क्योंकि समय से दुकान नहीं लगने पर राखियां कैसे बेचेंगे? इसलिए दुकान लगाने की परमिशन के लिए व्यापारी निगम अफसरों के आगे-पीछे घूम रहे हैं।

साथ ही उन्हें उम्मीद है कि मामले में आयुक्त सिंह आज कोई न कोई फैसला करेंगे और दुकान आवंटन को लेकर रसीद निगम काटेगा। मालूम हो कि दुकान लगाने को लेकर निगम से परमिशन मिलने में देरी होने पर व्यापारियों ने मुख्यालय पहुंचकर मार्केट विभाग के अपर आयुक्त एस. कृष्ण चैतन्य के दफ्तर के बाहर धरना दिया था। इस पर मार्केट विभाग के उपायुक्त लोकेंद्र सिंह सोलंकी ने कल रसीद काटकर दुकान आवंटन करने का वादा किया था, जिसे उन्हेंने पूरा नहीं किया।

परंपरागत व्यापारियों को ही लगाने देंगे दुकानें

इधर, मामले में निगमायुक्त आशीष सिंह का कहना है कि कृष्णपुरा छत्री पर राखियों की दुकान लगाने को लेकर जो 77 आवेदन मिले हैं, उसमें से परंपरागत व्यापारियों को ही दुकानें लगाने की परमिशन दी जाएगी। आज दुकान लगाने की परमिशन जारी हो जाएगी। दुकान लगने से बिगडऩे वाली यातायात व्यवस्था को सुधारने के लिए व्यापारियों को अवगत करा दिया जाएगा कि अगली बार परमिशन नहीं मिलेगी।

इनका विस्थापन दूसरी जगह किया जाएगा। इसलिए पहले से ही जगह तलाश करके रखें। उन्होंने कहा कि हमेशा की तरह इस बार भी कृष्णपुरा छत्री पर परंपरागत 51 दुकान ही लगाने की परमिशन दी जाएगी। नए लोगों के परमिशन दी तो हर वर्ष इनकी संख्या बढ़ती जाएगी। इसलिए जो पहले से दुकान लगती आ रही वहीं लगेगी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned