Raksha Bandhan : रक्षा सूत्र बांधने का ये है सबसे श्रेष्ठ मुहूर्त, राखी बांधते समय बहनें बोलें ये मंत्र

Raksha Bandhan : रक्षा सूत्र बांधने का ये है सबसे श्रेष्ठ मुहूर्त, राखी बांधते समय बहनें बोलें ये मंत्र

Hussain Ali | Updated: 14 Aug 2019, 02:03:41 PM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

इस साल राखी 15 अगस्त को है। इसकी वजह से आमजन में खासा उत्साह भी देखने को मिल रहा है।

इंदौर. भाई और बहन के पवित्र रिश्ते का त्योहार रक्षाबंधन गुरुवार को है, जिसको लेकर बाजार में खासी भीड़ है। बहनें अपने भाइयों के लिए राखियां, मिठाई और अन्य उपहार की खरीददारी कर रही हैं। इस साल राखी 15 अगस्त को है। इसकी वजह से आमजन में खासा उत्साह भी देखने को मिल रहा है। वहीं, रक्षासूत्र बांधने के मुहूर्त का भी पता लगाया जा रहा है। पं. गुलशन अग्रवाल के मुताबिक श्रवणकुमार का पूजन करने का श्रेष्ठ मुहूर्त दोपहर 12.04 से 12.28 बजे तक का है, अभिजीत व चल का चौघडिय़ा है।

must read : अब राखी में लगवाएं भाई का फोटो, मार्केट में भाई-बहन के लिए आए कुछ यूनीक गिफ्ट्स

रक्षा सूत्र बांधने के मुहूर्त

सुबह 6.04 से 7.40 बजे तक - शुभ
सुबह 10.52 से दोपहर 12.28 बजे तक - चर
दोपहर 12.29 से 02.04 बजे तक - लाभ
दोपहर 05.17 से शाम 6.53 बजे तक - शुभ
शाम 6.54 से रात 8.17 बजे तक - अमृत
रात 8.18 से 9.41 बजे तक - चर

indore

राखी बांधते समय बहनें बोलें ये मंत्र
येन बद्धो बली राजा, दानवेन्द्रो महाबल:।
तेन त्वामभिबध्नामि, रक्षे मा चल मा चल ।।
(राखी बांधते समय उपरोक्त मंत्र का उच्चारण करना विशेष शुभ माना जाता है। इस मंत्र में कहा गया है कि (जिस रक्षा डोर से महान शक्तिशाली दानवेंद्र राजा बलि को बांधा गया था, उसी रक्षाबंधन के पवित्र सूत्र को मैं तुम्हें बांधती हूं, यह डोर तुम्हारी रक्षा करेगी।)

दिव्यांग स्टूडेंट्स का अनूठा अंदाज, ध्वज स्तंभ पर बांधेंगे रक्षा सूत्र

इस बार स्वतंत्रता दिवस और रक्षा बंधन एक ही दिन आने की वजह से स्कीम नं. 71 स्थित मूक बधिर संगठन में स्वतंत्रता दिवस कुछ अनूठे अंदाज में मनाया जाएगा। संस्था के परिसर में तिरंगा फहराया जाएगा। ध्वज वंदन के बाद स्टूडेंटस ध्वज स्तंभ पर रक्षा सूत्र बांधेंगे और इस तरह से भारत की एकता, अखंडता और वीर सैनिकों के प्रति सम्मान प्रकट करेंगे। कार्यक्रम सुबह 10 बजे से होगा।

indore

जेल में भाइयों को राखी बांध सकेंगीं बहनें

रक्षाबंधन के त्योहार को देखते हुए जेल प्रशासन ने विशेष व्यवस्था की है। जेल में बंद कैदियों से बहनें विशेष मुलाकात कर सकती हैं। इसके लिए आवेदक को अपनी पहचान का प्रमाण पत्र लाना अनिवार्य होगा, जिसके तहत भारत सरकार द्वारा जारी मतदाता परिचय पत्र, ड्राइविंग लाइसेंस, राशन कार्ड, आधार कार्ड या अन्य कोई प्रमाण पत्र लाना अनिवार्य है। जेल प्रशासन के मुताबिक 5 वर्ष से अधिक उम्र के बच्चों को प्रवेश नहीं दिया जायेगा। मुलाकात सुबह 8 से दोपहर 3 बजे तक होगी। प्रवेश के दौरान जेल गेट के बाहर सभी की तलाशी होगी।

must read : raksha bandhan sister gifts - रक्षाबंधन पर अपनी बहन को भूलकर नहीं दे ये गिफ्ट

महिलाओं को अपने साथ 250 ग्राम मिठाई, दो छोटे फल, राखी और फूटा हुआ नारियल अंदर ले जाने दिया जाएगा। इनके अलावा दूसरी वस्तुओं को ले जाने पर सख्त कार्रवाई होगी। एक बंदी से मिलने वाली परिवार की सभी महिलाओं को एक ही आवेदन करना होगा। मोबाइल, रूपये-पैसे, नशीली वस्तुएं एवं घातक सामग्री नहीं ले जा सकते है। जेल अधीक्षक केन्द्रीय जेल संतोष सोलंकी ने बताया कि जेल में मुलाकात की सुविधा केवल महिलाओं के लिए होगी। अधिकतम 15 मिनिट का ही समय दिया जाएगा।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned