शिव के सावन में 11 लाख राम नाम लेखन का साक्षी बना शहर

शिव के सावन में 11 लाख राम नाम लेखन का साक्षी बना शहर

Sudhir Pandit | Publish: Jul, 31 2018 10:18:09 PM (IST) Indore, Madhya Pradesh, India

- सामाजिक समरसता को समर्पित रहा राम नाम लेखन महायज्ञ

 

- जय श्री राम के जयकारो से गूंज उठा अभय प्रशाल
इंदौर. पुरुषार्थ वासुदेव कुटुम्बकम सेवा संस्थान द्वारा मंगलवार को रेसकोर्स रोड़ स्थित अभय प्रशाल में अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण के उद्देश्य को लेकर राम-नाम लेखन का भव्य आयोजन किया। इस राम नाम लेखन में सभी धर्मों के लोगों ने सामूहिक रूप से शामिल होकर 108 बार राम नाम लिख शहर में इतिहास रच दिया। कार्यक्रम में सभी वर्गों के समाज बंधुओं ने शामिल होकर सामाजिक समरसता का भी परिचय दिया। राम नाम लेखन में मुख्य रूप से उत्तम स्वामी ने भी शामिल होकर राम नाम की महिमा बताई।
कार्यक्रम की शुरूआत पं उत्तम स्वामी ने भगवान राम की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलन कर की। कार्यक्रम में सभी वर्गों के लोगों को लेखन सामग्री भी संस्था की ओर से नि:शुल्क वितरित की गई थी। जिसमें सभी वर्गों ने 108 बार राम नाम लिखकर राम की महिमा जानी एवं सामाजिक समरसता का भी परिचय दिया। राम नाम लेखन के इस महायज्ञ में शहर के साथ-साथ अन्य शहरों से भी लोग शामिल हुए। राम नाम लेखन के इस अद्भुत कार्यक्रम में सभी वर्गों ने बढ़-चढक़र हिस्सा लिया और राम नाम की महिमा को भी जाना। अभय प्रशाल में लगभग 10 हजार लोगों ने सामूहिक राम नाम लेखन कर 10 लाख 80 हजार बार राम नाम लिखकर इंदौर में इतिहास रच दिया।

501 मंदिरों के पुजारियों का सम्मान- राम नाम लेखन महायज्ञ के इस कार्यक्रम में जहां सामाजिक समरसता देखने को मिली वहीं, इस कार्यक्रम में संस्था द्वारा शहर के 501 मंदिरों के पुजारियों का भी शाल-श्रीफल भेंटकर सम्मान किया। इन मंदिरों में खजराना गणेश, रणजीत हनुमान, बिजासन माता मंदिर, अन्नपूर्णा मंदिर, वैष्णव धाम, महालक्ष्मी मंदिर सहित अनेक मंदिरों के पुजारियों को सम्मानित किया। संस्था द्वारा कार्यक्रम में अलग-अलग समाजों से आए वरिष्ठजन और समाजसेवियों का भी सम्मान किया। अपने जीवन में नि:स्वार्थ भाव से शिक्षा, चिकित्सा, मानव सेवा, गौ सेवा जैसे कार्यों में समाज स्तर पर आयोजित कार्यक्रम में अपना योगदान देने वाले समस्त समाजसेवियों को सम्मानित किया।
विभिन्न मोहल्लों में होगी हनुमान चालीसा

पुरुषार्थ वासुदेव कुटुम्बकम सेवा संस्थान अध्यक्ष नानूराम कुमावत ने कहा, सामान्य जीवन में चारों पुरुषार्थ का समन्वय करते हुए चले। तो कभी कोई परेशानी नहीं आएगी। साथ ही उन्होंने बोला की शहर के 501 मोहल्ले में हनुमान चालीस का पाठ और राम नाम लेखन का आयोजन किया जाएगा। कार्यक्रम में बताया, मां अहिल्या की नगरी में यह राम नाम लेखन का कार्यक्रम प्रदेश का अब तक सबसे बड़ा सामूहिक महायज्ञ का आयोजन है। जो किसी धर्म, संप्रदाय और राजनीति से प्रेरित न होकर सामाजिक समरसता की मिसाल बना।

 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned