scriptrepublic day story communal harmony, where Hindus and Muslims live ha | एक गांव ऐसा भी: यहां इंसानियत ही सबसे बड़ा धर्म | Patrika News

एक गांव ऐसा भी: यहां इंसानियत ही सबसे बड़ा धर्म

साम्प्रदायिक सौहार्द की मिसाल है ये गांव, जहां मुस्लिम कई वर्षों से कर रहे हैं सुंदरकांड और हिन्दू मुस्लिम दोनों रहते है खुश

इंदौर

Updated: January 27, 2022 07:24:39 am

मनीष यादव
इंदौर. रतलाम जिले में मुस्लिमों से परेशान हिन्दू अपना घर बार छोड़ रहे हैं। वहीं इस स्थान से कुछ किलोमीटर दूर ही हिंदू मुस्लिम एकता की मिशाल देखने को मिल रही है। इस गांव में मुस्लिम समाज कई वर्षों से हनुमान चालीसा औऱ सुंदरकांड का पाठ करते आ रहा है। कई लोगों ने उनके आचरण को लेकर धमकाया भी, लेकिन उनका यहीं कहना है कि इंसानियत ही हमारा धर्म है। कपड़े या दाड़ी या चोटी रखने से धर्म नहीं होता बल्कि धर्म तो केवल इंंसानियत है।

republic_day.png

हम बात कर रहे इंदौर से 80 किलोमीटर दूर स्थित बदवानर विकास खंड के ग्राम कड़ोद कलॉ की। गांव के अंदर घुसते ही सभी घरों पर जयश्री राम लिखा हुआ है। यहां पर करीबन 100 घर मुस्लिम परिवारों के है। गावं के मंदिर में हिंदू के साथ ही मुस्लिम भी है। जो कि हर मंगवार और शनिवार को मंदिर में बैठकर रामायण का पाठ करते है तो सुंदर कांड भी किया करते है। किसी को याद नहीं कि यह सिलसिला कब चालू हुआ, लेकिन दो से तीन पिढिय़ां यह काम कर रही है।

गांव के बाहर यह कहकर मुस्लिमों ने विरोध किया जो वह हिंदू धर्म अपना रहे है, तो हिंदू पुजारी मंदिर में आने का विरोध किया। गांव में किसी को भी कोई फर्क नहीं पड़ता। अब तो पूरी तहसील में कोई भी किसी भी धर्मस्थल आ सकता है। गांव के ही मुन्ना पटेल ने बताया कि बाहर उनका सबजे ज्यादा विरोध मौलवी और पुजारियों ने ही किया है। वह दबाव बनाते थे कि दाड़ी और चौटी रखे, तभी अंदर आने दिया जाएगा। उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता। वह सिंहस्थ में भी जाते है और अपना कार्यक्रम करते आ रहे है।

जन्म कुंडली तक बना लेते थे
मुस्लिम समाज की यूनूश भाई टेलर धर्म-कर्म के ज्ञाता हुआ करते थे। वह न सिर्फ कुरान बल्की रामायण और बाइबल के बारे में सभी बाते जानते थे। वह एक अच्छे भविष्य वक्ता रहे है। कई लोग अपनी जन्मकुंडली तक बनवाने के लिए उनके पास आते थे। मरने से चार दिन पहले ही उन्होंने अपने शार्गीद को इस बारे में बता दिया था।

झगड़ा भी गांव में ही खत्म
ग्रामीणों की माने तो पहले तो गांव के अंदर कोई विवाद होता नहीं है, लेकिन अगर किसी में कहासुनी हो जाए तो गांव के बड़े बैठ जाते है। वह दोनों पक्षों की बात सुनकर जिस किसी भी गलती बाता देते है। वह अपनी गलती मान लेता है और विवाद वहीं पर खत्म हो जाता है।

munna.pngमेरा धर्म इंसानियत ही है
मुनीर खा उर्फ मुन्ना पटेल ने कहा कि बचपन में घर के पास ही मंदिर था। आरती में घंटी बजाने वाला कोई नहीं मिले तो वह दौड़कर चले जाते थे। इसके बाद संगीत का शौक लगा और वह सुंदर कांड करने लगे थे। करीबन सात वर्षो से नागदा के मंदिर में जाकर सुंदरकांड का पाठ करते आ रहे है। आज मस्जिदों में रोक लग गई, लेकिन किसी भी मंदिर में जाने पर रोक नहीं है। उनका धर्म सिर्फ इंसानियत ही है।
यूसुफ शाह टेलर ने कहा कि घर में बड़े रामायण पड़ा करते थे। वह मां के पेट से ही भजन सुनते आ रहे है। इसके चलते भजन गाने की आदत लग गई। पिता धर्म गुरू भी थे। गांव के बाहर जब कार्यक्रम के लिए जाते है तो कुछ लोग विरोध भी करते है। अब विरोध खत्म हो गया है। वह मंदिर में जाते है तो मंदिर के सारे नियम पालन करते है। मस्जिद में जाते है वहां का नियमों का ध्यान रखते है। आने वाली पिढिय़ां भी जुड़ गई है।
mahant.png

तीन पिढियों से देखते आ रहे है
हनूमान मंदिर पुजारी महंत भूरुदास वैष्णव ने बताया कि मंदिर में आने पर किसी को भी रोक नहीं है। वह तीन पिढिय़ों से देखते आ रहे है। गांव के ही मुस्लिम आते है और रामायण मंडल के साथ मिलकर भजने करते है। किसी को भी यहां पर कोई आपत्ती नहीं है। गांव के साथ ही आसपास के पूरे इलाके में हिंदू मुस्लिम जैसे कोई बात ही नहीं है।


यहां पर हर त्यौहार मनता है
गांव के विक्रम सौलंकी ने बताया कि गांव में ही हर त्यौहार मनाया जाता है। ताजिए में हम लोग जाते है और कव्वाली गाते है तो दूसरे त्यौहारों पर मुस्लिम भी आते है। उनके पिता सरदार सौलंकी को संगीत का गुरू ही माना जाता रहा है। उनके समय से ही संगीत और हनूमान चालिसा देखते आ रहे है।

देखें वीडियो...

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

Thailand Open: PV Sindhu ने वर्ल्ड की नंबर 1 खिलाड़ी Akane Yamaguchi को हराकर सेमीफाइनल में बनाई जगहIPL 2022 RR vs CSK Live Updates: रोमांचक मुकाबले में राजस्थान ने चेन्नई को 5 विकेट से हरायासुप्रीम कोर्ट में अपने लास्ट डे पर बोले जस्टिस एलएन राव- 'जज साधु-संन्यासी नहीं होते, हम पर भी होता है काम का दबाव'ज्ञानवापी मस्जिद केसः सुप्रीम कोर्ट का सुझाव, मामला जिला जज के पास भेजा जाए, सभी पक्षों के हित सुरक्षित रखे जाएंशिक्षा मंत्री की बेटी को कलकत्ता हाई कोर्ट ने दिए बर्खास्त करने के निर्देश, लौटाना होगा 41 महीने का वेतनCBI रेड के बाद तेजस्वी यादव ने केंद्र सरकार पर कसा तंज, कहा - 'ऐ हवा जाकर कह दो, दिल्ली के दरबारों से, नहीं डरा है, नहीं डरेगा लालू इन सरकारों से'Ola-Uber की मनमानी पर लगेगी लगाम! CCPA ने अनुचित व्यवहार के लिए भेजा नोटिस, 15 दिन में नहीं दिया जवाब तो हो सकती है कार्रवाईHyderabad Encounter Case: सुप्रीम कोर्ट के जांच आयोग ने हैदराबाद एनकाउंटर को बताया फर्जी, पुलिसकर्मी दोषी करार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.