scriptResidency area will be duly recorded in government records | सरकारी रिकॉर्ड में विधिवत् दर्ज होगा रेसीडेंसी एरिया | Patrika News

सरकारी रिकॉर्ड में विधिवत् दर्ज होगा रेसीडेंसी एरिया

-ड्रोन सर्वे के बाद अब मैदानी सर्वे की तैयारी
-भू-सर्वेक्षण के लिए जारी होगी अधिसूचना

इंदौर

Updated: April 04, 2022 11:14:39 am

इंदौर. अंग्रेजों के जमाने में विकसित हुए रेसीडेंसी एरिया को सरकारी राजस्व रिकॉर्ड पर लाने का काम चल रहा है। पहले चरण में ड्रोन सर्वे हो गया तो दूसरे चरण का काम शुरू होने जा रहा है। इसमें टीम मैदानी सर्वेक्षण कर भौतिक सत्यापन करेगी। इस काम में प्रशासन तकनीकी पेंच में फंस रहा है, जिसे सुलझाने का प्रयास भी किया जा रहा है। वहीं सर्वेक्षण की अधिसूचना जारी करने की तैयारी है।
सरकारी रिकॉर्ड में विधिवत् दर्ज होगा रेसीडेंसी एरिया
सरकारी रिकॉर्ड में विधिवत् दर्ज होगा रेसीडेंसी एरिया

रेसीडेंसी एरिया का ड्रोन सर्वे प्रशासन ने पूरा कर लिया है। फोटो और वीडियो के साथ एरिया की लगभग 1030 एकड़ जमीन की नपती की जा चुकी है। अब फोटो के हिसाब से सभी संपत्तियों का भौतिक सत्यापन होने जा रहा है। किसके पास कितनी जमीन है, उनके दस्तावेज भी मांगे जाएंगे। उसके बाद जिला प्रशासन क्षेत्र का नक्शा, खसरा और रिकॉर्ड तैयार करेगा। इसको लेकर प्रशासनिक स्तर पर तेजी से काम चल रहा है, लेकिन कुछ तकनीकी समस्याएं भी आ रही हैं। इसके मैदानी सर्वेक्षण को लेकर पेंच फंस रहा है। सरकारी रिकॉर्ड तैयार करने के लिए अब भू सर्वेक्षण व उसकी अधिसूचना जारी करने की आवश्यकता हो रही है। इसके लिए अपर तहसीलदार ने भू-अभिलेख विभाग के अधीक्षक को पत्र जारी कर कार्रवाई आगे बढ़ाने को कहा है। अब जल्द ही ये औपचारिकता पूरी करके काम शुरू कर दिया जाएगा।
रेसीडेंसी में ये क्षेत्र भी
सर्वे के अनुसार रेडियो कॉलोनी, रेसीडेंसी कोठी एरिया, धार कोठी और गीता भवन के पहले तक की कुछ जगह रेसीडेंसी एरिया में आ रही हैं। उसमें निजी संस्थाओं के पास भी जमीन है। अब सभी की जानकारी उपलब्ध होगी, जिसके बाद लीज नवीनीकरण, लीज ट्रांसफर हो सकेगा। उससे प्रशासन की कमाई भी बढ़ेगी। इसके अलावा कई ट्रस्टों व संस्थाओं ने भी जमीनें ले रखी है। जानकारी के अभाव में वे फायदा उठा रहे हैं। भौतिक सर्वे के बाद में दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा।

भौतिक में हुआ था बवाल
एक दशक पहले भी सर्वे शुरू किया गया था। उस दौरान आरआई की टीम रेसीडेंसी में एक पुलिस अधिकारी के बंगले की जानकारी लेने पहुंची। पुलिस अधिकारी का परिवार नाराज हो गया था। भड़कने के बाद एक आरआई को थाने में बंद कर दिया गया था। उस दौरान पुलिस और प्रशासन के बीच आमने-सामने की स्थिति बन गई थी। तत्कालीन कलेक्टर के सख्त रूख के चलते पुलिस को तुरंत आरआई को छोडऩा पड़ा था। इस बार विभाग को बहुत ही सावधानी से काम करना होगा।

ये है तकनीकी पेंच
रेसीडेंसी एरिया वर्तमान में तहसील जूनी इंदौर के प्रस्तावित ग्राम रेसीडेंसी एरिया (वार्ड 54, कोड 22682, अर्बन इंदौर) में आता है। भौगोलिक रकबा 1030 एकड़ है। वर्तमान तक एरिया अनसर्वेड एरिया है, जिसके कारण क्षेत्र का राजस्व रिकॉर्ड व नक्शा आदि उपलब्ध नहीं है। वेब जीआईएस सॉफ्टवेयर में भी प्रचलित कप्यूटराइज्ड खसरा-नक्शा संधारित नहीं है। ड्रोन से सर्वे के बाद दूसरे चरण में नक्शा प्रारूप को संयुक्त सर्वेक्षण दल को ग्राउंड टू थिंग कार्य के लिए मोबाइल एप पर व हार्ड कॉपी नक्शे के रूप में इंडेक्स मैप के साथ दिया जाएगा। राजस्व रिकॉर्ड के हिसाब से प्रत्येक गांव का एक एलडीजी कोड होता है, किंतु रेसीडेंसी नहीं है। वर्तमान में अधिसूचित ग्राम के ही एलडीजी को बने हैं। वेबजीआईएस एप में सेक्टर अनुसार पटवारी की खसरा आईडी में लोकेट करने के लिए एजीडी कोड की आवश्यकता है। उस कोड को जनरेट करने को रेसीडेंसी एरिया की अधिसूचना जारी करने की आवश्यकता है ताकि अर्बन सर्वे का काम किया जा सके। अब मप्र भू राजस्व संहिता-१९५९ संशोधन अधिनियम वर्ष-2018 के अध्याय 07 में भू सर्वेक्षण धारा 61 व धारा 64 व मप्र भू राजस्व संहिता (भू सर्वेक्षण व भू अभिलेख) नियम 2020 के प्रावधान अनुसार ग्राम रेसीडेंसी भू सर्वेक्षण के लिए अधि सूचना का प्रकाशन कराया जाएगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

पंजाब की राह राजस्थान: मंत्री-विधायक खोल रहे नौकरशाही के खिलाफ मोर्चा, आलाकमान तक शिकायतेंद्वारकाधीश मंदिर में पूजा के साथ आज शुरू होगा BJP का मिशन गुजरात, मोदी के साथ-साथ अमित शाह भी पहुंच रहेVIP कल्चर पर पंजाब की मान सरकार का एक और वार, 424 वीआईपी को दी रही सुरक्षा व्यवस्था की खत्मओडिशा में "भ्रूण लिंग" जांच गिरोह का भंडाफोड़, 13 गिरफ्तारमां की खराब तबीयत के बावजूद बल्लेबाजों पर कहर बनकर टूटे ओबेड मैकॉय, संगकारा ने जमकर की तारीफRenault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चAnother Front of Inflation : अडानी समूह इंडोनेशिया से खरीद राजस्थान पहुंचाएगा तीन गुना महंगा कोयला, जेब कटना तयसुकन्या समृद्धि योजना में सरकार ने किए बड़े बदलाव, जानें क्या है नए नियम
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.