पांच महीने पहले हुई परीक्षा, अब भी है रिजल्ट का इंतजार

पांच महीने पहले हुई परीक्षा, अब भी है रिजल्ट का इंतजार

Abhishek Verma | Publish: Sep, 09 2018 06:00:05 PM (IST) Indore, Madhya Pradesh, India

30 अगस्त की ईसी बैठक में कुलपति ने किया था सात दिन में जारी करने का दावा, एक दर्जन से ज्यादा रिजल्ट भी जारी नहीं कर पाई यूनिवर्सिटी

इंदौर. देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी ने रिजल्ट में लेट-लतीफी का नया रिकॉर्ड कायम कर दिया है। मूल्यांकन की नई व्यवस्था को आजमाए बिना लागू करने का खामियाजा करीब डेढ़ लाख छात्रों को भुगतना पड़ रहा है। देरी का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पांच महीने पहले हुई फस्र्ट ईयर की परीक्षा का रिजल्ट अब तक जारी नहीं हुआ। कई सेमेस्टर परीक्षाओं के रिजल्ट आए बगैर परीक्षा विभाग ने अगले सेमेस्टर की परीक्षा भी करवा ली। रिजल्ट के लिए यूनिवर्सिटी के चक्कर काटकर थक चुके छात्रों को जवाब देने में अब अफसर भी बचने लगे है।
लीड कॉलेजों के जरिए कॉपी जंचवाने का फैसला मूल्यांकन व्यवस्था ठप होने की अहम वजह बना है। छठे सेमेस्टर की परीक्षा से एक दिन पहले ही प्राचार्यों को इस व्यवस्था के बारे में बताया। भारी विरोध के बावजूद यूनिवर्सिटी ने ये व्यवस्था थोंप दी। जैसे-तैसे छठे सेमेस्टर का रिजल्ट तो जारी हुआ लेकिन, इसके बाद लीड कॉलेजों व मूल्यांकनकर्ताओं ने हाथ खड़े कर दिए। इसी का नतीजा है कि अप्रैल में हो चुकी बीए, बीकॉम और बीएससी फस्र्ट ईयर की परीक्षा का रिजल्ट अब तक जारी नहीं हो पाया। ये रिजल्ट जून में ही जारी होना थे। इन कोर्स के चौथे सेमेस्टर का रिजल्ट भी अटका ही हुआ है। एलएलबी फस्र्ट सेमेस्टर का रिजल्ट भी चार महीने से नहीं आया। परीक्षा विभाग ने सेकंड सेमेस्टर की परीक्षा पिछले सप्ताह से ही शुरू कराई है।

कुलपति का दावा भी फेल

रिजल्ट में लेट-लतीफी की समीक्षा करते हुए यूनिवर्सिटी ने एक महीने में 30 से ज्यादा रिजल्ट जारी करने का दावा किया था। 20 दिन बाद इन दावों की भी हवा निकलती नजर आ गई। 30 अगस्त को हुई कार्यपरिषद बैठक में सदस्य आलोक डावर ने रिजल्ट नहीं आने पर नाराजगी जताई थी। तब कुलपति ने फस्र्ट ईयर के रिजल्ट सात दिनों देने का दावा किया। भविष्य में ऐसी लेट-लतीफी न हो इसलिए तीन सदस्यीय कमेटी का भी गठन हुआ था। अब तक इस बैठक के मिनट्स तैयार नहीं होने के कारण कमेटी समीक्षा भी शुरू नहीं कर पाई है।

रिव्यू रिजल्ट के तो पते ही नहीं
मुख्य परीक्षा के रिजल्ट के साथ रिव्यू रिजल्ट भी जारी नहीं हो रहे। मुख्य रिजल्ट से असंतुष्ट छात्रों को अपनी कॉपी देखने का मौका दिया जाता है। ये कॉपियां यूनिवर्सिटी दोबारा जंचवाती है। एक दर्जन से ज्यादा बड़ी परीक्षाओं के रिव्यू रिजल्ट भी 3 से 5 महीने से जारी नहीं हुए। इन रिजल्ट में देरी के लिए भी यूनिवर्सिटी के पास कोई जवाब नहीं है।

००००००००००००००००००

कुछ परीक्षाओं के रिजल्ट में देरी हुई है। जल्द ही रूके हुए रिजल्ट जारी करा दिए जाएंगे। हम इसकी समीक्षा करा रहे है। अगर जरूरी हुआ तो अगली परीक्षा से मूल्यांकन व्यवस्था में और बदलाव कराए जाएंगे।

- प्रो.नरेंद्र धाकड़, कुलपति

Ad Block is Banned