ट्रक की टक्कर से बाइक पर बैठी महिला उछलकर गिरी, पहिए की चपेट में आया पैर का पंजा

जूनी इंदौर थाना क्षेत्र का मामला, १५ मिनट तक १०८ एेंबुलेंस की राह देखता रहा परिवार, मजबूरन घायल को ऑटो से ले गए एमवाय

By: Krishnapal Singh

Published: 14 Oct 2018, 03:01 AM IST

परिवार के साथ महू से खरीदारी करने पहुंची महिला एक्सीडेंट में गंभीर रूप से घायल हो गई। वे अपने देवर के साथ बाइक पर बैठी थी। ट्रक की टक्कर लगते ही वे उछलक र सडक़ पर गिर गई। उनका पैर का पंजा पहिए की चपेट में आ गया। महिला को गंभीर हालत में देख उनका देवर लोगों से मदद मांगने लगे। करीब १५ मिनट तक वे १०८ एेंबुलेंस का इंतजार करते रहे। लेकिन किसी राहगीर ने इंसानियत दिखाते हुए उनकी मदद नहीं की। अंत में उनके परिजन वहां पहुंचे और घायल महिला को ऑटो से उपचार के लिए एमवाय लेकर पहुंचे।

देवर मो इस्माईल ने बताया की वे अपनी भाभी अकला बी ४३ पति मो उस्मान को बाइक से गुरुवार को नवलखा से छावनी की ओर जा रहे थे। दोनों अग्रसेन चौराहे पर पहुंचे ही थे की पीछे से आ रहे बेलगाम ट्रक क्रमांक एमपी ०९ एचएच ५०८८ ने उन्हें पीछे से टक्कर मार दी। जिससे उनकी भाभी रोड पर गिर पड़ी और ट्रक का अंगला पहिया उनके पैर के पंजे से होकर गुजर गया। वे वहीं तड़पने लगी। इस्माईल का कहना है की राह चलते लोग तमाश देखते रहे। लापरवाह चालक घटना के तुरंत बाद वहां से भाग निकला। उन्होंने मदद के लिए १०८ एेंबुलेंस और पुलिस को फोन लगाया। १५ मिनट तक वे इंतजार करते रहे लेकिन वहां कोई नहीं पहुंचा। जिस वक्त उन्होंने पुलिस और एेंबुलेंस को फोन पर सूचना दी थी। उस वक्त उन्होंने अपने भाई को फोन किया। वे छावनी से तुरंत घटनास्थल पर लौटे। परिवार ऑटो से घायल महिला को उपचार के लिए एमवाय हॉस्पिटल ले गया। उन्होंने बताया की डॉक्टर ने पंजा काटने की बात कही। इस वजह से वे उन्हें भंवरकुआ क्षेत्र के निजी हॉस्पिटल में लेकर पहुंचे। इस्माईल ने आपबीती बताते हुए कहा की जनता के लिए इस तरह की सुविधा बनाई गई जो सही वक्त पर उनके काम भी नहीं आ सके। एएसआई एमरकस टोप्पो ने बताया की फरियादी मो उस्मान की शिकायत पर ट्रक क्रमांक एमपी ०९एचएच ५०८८ के खिलाफ केस दर्ज किया है। ड्राइवर जावेद खान निवासी सागौर को पकड़ लिया है।

Krishnapal Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned