कर्मचारियों को बंधक बनाकर की डकैती

हथियारों से लैस बदमाशों ने रात १२.३० से २.३० बजे तक दिया वारदात को अंजाम

 

देवास. शहर के एक हिस्से में पानी सप्लाई करने वाले राजानल तालाब पर नगर निगम का वर्षों पुराना फिल्टर प्लांट लगा है। गुरुवार रात करीब १२.३० बजे आधा दर्जन से अधिक नकाबपोश बदमाशों ने अचानक धावा बोला। तीनों कर्मचारी कुछ समझते इससे पहले हथियारों से लैस बदमाशों ने मारपीट करना शुरू कर दी। बदमाशों ने सबसे पहले कर्मचारियों के पास से मोबाइल अपने कब्जे में ले लिए। मारपीट करने के बाद पलंग पर रस्सी से बांध दिया गया।

इसके बाद डकैतों ने प्लांट परिसर में रखी सामग्री लूट ली गई।बीएनपी पुलिस ने बताया, अज्ञात बदमाश प्लांट पर काम करने वाले कर्मचारी साजिद शेख निवासी मोहसीनपुरा, शिवनारायण पटेल निवासी सुमराखेड़ी व शाहिद खां निवासी मोहसीनपुरा के साथ मारपीट करते हुए सामग्री लूटकर ले गए। अलसुबह सूचना मिलते ही बीएनपी पुलिस मौके पर पहुंची और जांच शुरू की गई। बदमाश प्लांट के पिछली वाली बाउंड्री से अंदर घुसे और कर्मचारी कुछ समझ पाते इससे पहले उन्होंने डंडे से मारपीट करना शुरू कर दी थी। मारपीट में सबसे ज्यादा चोट कर्मचारी शिवनारायण को आई, जिनका उपचार कर नगर निगम ने तीन दिन की छुट्टी आराम करने के लिए दी है।

कर्मचारियों ने विरोध किया तो ज्यादा मारपीट कर दी गई थी। बदमाश इतने शातीर थे कि उन्होंने सबसे पहले मोबाइल कब्जे में लिए थे, जिससे की वह फोन कर पुलिस को सूचना नहीं दे सके। सुबह एसपी अंशुमानसिंह, टीआई उमरावसिंह, पुलिस की डाक स्क्वाड, फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट व एफएसएल अधिकारी जांच के लिए पहुंच गए थे। नगर निगम उपयंत्री आरके शर्मा ने बताया कि राजानल तालाब के फिल्टर प्लांट पर २४ घंटे तीन-तीन कर्मचारियों की ड्यूटी लगी रहती है।रात के समय साजिद, शाहिद व शिवनारयण की ड्यूटी थी, जिन्हे बंधक बनाकर बदमाश स्पेयर में रखा ३१५ केवी का ट्रांसफार्मर से महंगा ऑइल, कॉपर के वायर, क्लोरीन सप्लाई करने वाली ५ एचपी विद्युत मोटर, रेस्ट हाउस से फ्रीज, गैस की टंकी, कूलर, २५० लोगों के भोजन करने बर्तन, कर्मचारियों के मोबाइल, साजिद की बाइक आदि चोरी हुई है। मामले मेें प्रकरण दर्ज हो गया।

सुबह से गांवों की छान रहे खाक
हमारी अलग-अलग टीम सुबह से ही ग्रामीण क्षेत्रों की खाक छान रहे हैं। मैं स्वयं भी इसी क्षेत्र में लगा हूं, उम्मीद है कि जल्द ही आरोपितों की गरेबान तक पहुंच जाएंगे।बदमाश कर्मचारियों से करीब ५ हजार व मोबाइल ले गए थे। दो मोबाइल हमें वारदात स्थल से कुछ ही दूरी पर टूटे हुए मिले हैं। - उमरावसिंह, बीएनपी टीआई

अर्जुन रिछारिया Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned