आरटीओ में 3 सगे भाइयों से हुआ विवाद, बदमाशों ने चाकू से गोद दिया शरीर

आरटीओ खुद अपनी गाड़ी से घायलों को ले गए अस्पताल

By: nidhi awasthi

Published: 24 May 2018, 10:41 AM IST

इंदौर. आरटीओ परिसर में बुधवार दोपहर कार के रजिस्ट्रेशन को लेकर विवाद में तीन भाइयों पर चाकू से हमले की सनसनीखेज घटना हुई। हमला कर आरोपी कार से भाग निकले।

 

crime

घटना के बाद आरटीओ खुद अपनी गाड़ी से घायलों को अस्पताल ले गए। बाद में तेजाजी नगर थाने पर शिकायत की। पत्थरमुंडला स्थित आरटीओ ऑफिस में दोपहर करीब 2.30 बजे द्वारकापुरी निवासी रणजीत वर्मा, भाई रवि व जितेंद्र के साथ पहुंचे। रणजीत के पास स्कॉर्पियो कार है, जो 9 मई को कृष्णा जामदार निवासी द्वारकापुरी के नाम पर ट्रांसफर हुई थी। इसे लेकर आपत्ति जताने वे आरटीओ पहुंचे थे। कृष्णा को जानकारी लगी तो वह भी पिता छोटे जामदार, भाई वीरू जामदार, विनोद दरियानी व मंगल के वहां पहुंचा और आपत्ति लेने को लेकर रणजीत से विवाद कर चाकू से हमला कर दिया। भाई रवि व जितेंद्र उसे बचाने आए तो उन पर भी वार कर फरार हो गए। सूचना पर आरटीओ जितेंद्र रघुवंशी बाहर आए और अपनी गाड़ी से खुद घायलों को लेकर गुर्जर अस्पताल पहुंचे।

रवि व जितेंद्र को ज्यादा चोट आई है। यहां से आरटीओ रघुवंशी तेजाजी नगर थाने पहुंचे। सीएसपी संध्या राय, टीआइ तेजाजी नगर गिरीश कुमार कवरेती भी आरटीओ पहुंचे। पहले सूचना मिली थी कि आरटीओ एजेंट के बीच विवाद में एक कुख्यात गुंडे के समर्थकों ने हमला किया, लेकिन आरटीओ जाने पर स्थिति साफ हुई। एएसपी प्रशांत चौबे ने बताया कि मामले में पुलिस ने पांचों आरोपित के खिलाफ हत्या के प्रयास का केस दर्ज कर तलाश शुरू की है।

मकान को लेकर शुरू हुआ विवाद
जानकारी मिली है कि कृष्णा के नाम का मकान फरियादी के परिवार ने लिया था, जिसके बाद दोनों पक्षों में 5 माह से विवाद चल रहा है। दोनों पक्ष पहले भी आमने-सामने हो चुके हंै। ९ लाख रुपए के लेन-देन का विवाद भी आ रहा है। कृष्णा का आपराधिक रिकॉर्ड भी है। लेन-देन को लेकर ही कार ट्रांसफर की बात सामने आई है, लेकिन फरियादी ने ट्रांसफर पेपर पर साइन नहीं करने की बात कही। इस पर अब पुलिस दस्तावेज की जांच करवा रही है। कार गलत तरीके से ट्रांसफर करने को लेकर रणजीत ने सीएसपी अन्नपूर्णा को भी शिकायत की थी, जिसकी जांच चल रही है। फिलहाल दोनों के पास गाड़ी के रजिस्ट्रेशन कार्ड है।

&मामले में पुलिस जांच कर रही है। परिवहन विभाग इसमें पूरी मदद करेगा। घटना के समय में लर्निंग ट्रेक पर मौजूद था। घटना की जानकारी मिलने पर घायलों को इलाज के लिए ले गए।
- जितेंद्र रघुवंशी, आरटीओ

nidhi awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned