scriptRTO: Junk of e-waste, when will it be free | RTO : ई- कचरे का कबाड़, कब मिलेगी मुक्ति | Patrika News

RTO : ई- कचरे का कबाड़, कब मिलेगी मुक्ति

2010 से कार्यालय में पड़े खराब सिस्टम व अन्य इलेक्ट्रॉनिक सामग्री
दो कमरों में लगा ढ़ेर, अधिकारियों का ध्यान नही

इंदौर

Updated: May 02, 2022 10:58:40 am

इंदौर।

ई- कचरा पर्यावरण के साथ स्वास्थ्य के लिए भी हानिकारक है। इसके बाद भी वर्षों से क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय में ई- कचरा जमा हुआ है। इसका अब तक निस्तारण नहीं किया गया। ना केवल ये ई कचरा कार्यालय की शोभा बिगाड़ रहा है, बल्कि अफसरों की छवि भी धूमिल कर रहा है। हालांकि अब जिम्मेदार इसके निपटारण की कार्य योजना बनाए जाने की बात कर रहे हैं।
RTO
RTO : ई- कचरे का कबाड़, कब मिलेगी मुक्ति
इंदौर के क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय में वर्ष 2010 से कलम और कागज की जगह कम्प्यूटर्स ने ली थी। इसके बाद हर सेक्शन और बाबुओं की टेबल पर कम्प्यूटर सिस्टम नजर आने लगे। शासन ने भी अफसरों की मदद के लिए स्मार्ट चिप नामक कंपनी को कार्यालय में कई महत्वपूर्ण कार्यों की जिम्मेदारी सौंपी। बाकायदा टेंडर जारी कर काम दिया गया। कंपनी ने भी कर्मचारियों की भर्ती कर काम का श्री गणेश कर दिया। कम्प्यूटर्स के माध्यम से विभाग में काम होने लगे। समय समय पर कम्प्यूटर्स में खराबी होना, तकनीकी परेशानी आना आदि दिक्कतें आती गई। खराब सामान को अलग करते गए। धीरे-धीरे कबाड़ के रूप में कम्प्यूटर्स व अन्य सामग्री का जमावड़ा होता गया। दो कमरों में लाखों रुपए की राशि के कंप्यूटर व इससे जुड़ी सामग्री का ढेर लगता गया। विभाग के जिम्मेदारों ने इस ओर ध्यान ही नहीं दिया। यह ई-कचरा कक्षों में फैलता गया। हालात यह हैं कि परिवहन कार्यालय के अलग अलग कक्षों में आधी से अधिक जगह इस कचरे ने घेर रखी है।
अफसरों को नहीं जानकारी

इधर, परिवहन कार्यालय के सूत्रों की मानें तो स्मार्ट चिप कंपनी से लेकर विभाग के अधिकारियों को ही इस बात की जानकारी नहीं है कि इस ई- कचरे का निस्तारण किस प्रकार किया जाना है। या फिर इसे नीलाम कर बेचा जाना है।
निस्तारण बहुत जरूरी

एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक घरों या ऑफिस से निकलने वाले कचरे की तरह ई-कचरे का निस्तारण भी जरूरी है। इसका सही ढंग से निस्तारण न किया जाए तो न केवल इससे पर्यावरण प्रदूषित होता है बल्कि ई कचरे का बोझ भी बढ़ता है। उन्होंने बताया कि वर्ष 2016 में इसके निस्तारण के लिए केंद्रीय पर्यावरण,वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ई-वेस्ट के निस्तारण से सबंधित नियमों को अधिसूचित किया था।
कर रहे प्लानिंग

ई- कचरे का निस्तारण किया जाना है। इसके लिए हम प्लानिंग कर रहे हैं कि किस प्रकार निस्तारण किया जाए। वरिष्ठ अधिकारियों से मार्गदर्शन लेकर जल्द ही निस्तारण किया जाएगा।
अर्चना मिश्रा

एआरटीओ

RTO

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

Constable Paper Leak: राजस्थान कांस्टेबल परीक्षा रद्द, आठ गिरफ्तार, 16 मई के पेपर पर भी लीक का साया30 साल बाद फ्रांस को फिर से मिली महिला पीएम, राष्ट्रपति मैक्रों ने श्रम मंत्री एलिजाबेथ बोर्न को नया पीएम किया नियुक्तदिल्ली में जारी आग का तांडव! मुंडका के बाद नरेला की चप्पल फैक्ट्री में लगी भीषण आग, मौके पर पहुंची 9 दमकल गाडि़यांबॉर्डर पर चीन की नई चाल, अरुणाचल सीमा पर तेजी से बुनियादी ढांचा बढ़ा रहा चीनSri Lanka में अब तक का सबसे बड़ा संकट, केवल एक दिन का बचा है पेट्रोलताजमहल के बंद 22 कमरों का खुल गया सीक्रेट, ASI ने फोटो जारी करते हुए बताई गंभीर बातेंकर्नाटक: हथियारों के साथ बजरंग दल कार्यकर्ताओं के ट्रेनिंग कैम्प की फोटोज वायरल, कांग्रेस ने उठाए सवालPM Modi Nepal Visit : नेपाल के बिना हमारे राम भी अधूरे हैं, नेपाल दौरे पर बोले पीएम मोदी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.