बिना ट्रेड लाइसेंस के संचालित हो रही ई-टैक्सी कंपनियों को आरटीओ ने किया तलब

बिना ट्रेड लाइसेंस के संचालित हो रही ई-टैक्सी कंपनियों को आरटीओ ने किया तलब

Reena Sharma | Updated: 08 Aug 2019, 10:30:00 AM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

परिवहन विभाग के नियमों का नहीं पालन कर रही कंपनियां

इंदौर. ई-टैक्सी और ई-बाइक टैक्सी सेवा का दायरा तेजी से बढ़ रहा है। पिछले कुछ वर्षों में ही आधा दर्जन से अधिक एप बेस्ड बाइक-टैक्सी सर्विस इंदौर में दे रही हैं। लेकिन परिवहन विभाग के नियमों का पालन नहीं कर रही हैं। जहां बाइक टैक्सी सर्विस रेपीडो को इंदौर आरटीओ ने बेन कर दिया है। वहीं ओला टैक्सी सहित अन्य कंपनियां, जो कि बिना ट्रेड सर्टिफिकेट व अन्य नियम तोडक़र अपनी सेवाएं संचालित कर रही थीं, उनके कार्यालय जाकर पंचनामा बना चुके हैं। आज इन सभी एप आधारित बाइक-टैक्सी सर्विस देने वाली कंपनियों को आरटीओ कार्यालय बुलाया गया है।

उल्लेखनीय है कि कुछ दिनों पहले ही आरटीओ ने टीम बनाकर रेपीडो एप आधारित कंपनी की 100 से अधिक बाइक पर चालानी कार्रवाई की थी, लेकिन इसके बाद भी कंपनी ने इंदौर में अपना काम जारी रखा है। जबकि कंपनी द्वारा परिवहन विभाग के नियम पूरे नहीं किए जा रहे हैं। आरटीओ जितेंद्र सिंह रघुवंशी ने बताया कि सोमवार को ही ओला सहित अन्य एप आधारित टैक्सी कंपनियों के कार्यालय गए थे। यहां पर टैक्सी संचालन को लेकर दस्तावेज प्रस्तुत नहीं किए गए हैं। जिसको लेकर पंचनामा बनाया गया है। अब कंपनी कोर्ट या फिर कार्यालय में आकर अपना जवाब प्रस्तुत करेगी। संभवत आज कंपनियों के पदाधिकारियों के साथ बैठक होगी, जिसमें विभाग के नियमों के पूरे होने पर ही संचालन की अनुमति दी जाएगी।

आज भी चल रही है रेपीडो

इंदौर आरटीओ ने 16 जुलाई को ही रेपीडो को प्रतिबंधित किया है, लेकिन इसके बावजूद कंपनी द्वारा अपनी सेवाएं दी जा रही हैं। आज सुबह भी रीगल तिराहे पर आधा दर्जन रेपीडो बाइक सेवाएं देने के लिए खड़ी थीं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned