तीर्थ स्थल पर बदमाशों ने जमकर की तोडफ़ोड़, जैन आचार्य को दी धमकी

- पुलिसकर्मी के आग्रह के बाद भी थाने में नहीं किया प्रवेश, घटना के संबंध में दर्ज करवाई शिकायत

 

By: Krishnapal Singh

Published: 15 Apr 2019, 06:01 AM IST

पीथमपुर बायपास स्थित मलयगिरि तीर्थ स्थल पर देर रात कुछ बदमाशों ने जमकर उत्पात मचाया। पत्थर फेंकने और तीर्थ स्थल पर तोडफ़ोड़ की। बदमाशों ने जैन आचार्य सुब्रत सागर को जान से मारने की धमकी देते हुए उन्हें झूठे केस में फंसाने की धमकी दी। घटना से आहत आचार्य अपने शिष्यों के साथ रविवार सुबह गांधी नगर थाने पहुंचे। उन्होंने धमकी देने आए बदमाशों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। जैन मुनि थाने के बाहर ही बैठ गए। पुलिसकर्मियों ने उनसे अंदर बैठने का अनुरोध किया, लेकिन वे नहीं माने। उन्हें देख शिष्य व तीर्थ स्थल के सेवादार भी वहां बैठ गए। मामला गंभीर देख पुलिसकर्मियों ने आचार्य की शिकायत सुनी।

आचार्य ने अपनी शिकायत में बताया, वे शिवसागर समाधिष्ठ के शिष्य हैं। वर्तमान में मलयगिरि तीर्थ में विश्राम कर रहे हैं। शनिवार रात करीब ११ बजे अज्ञात व्यक्ति तीर्थ स्थल पर पहुंचे और तोडफ़ोड़ करने लगे। उन्होंने पत्थर फेंक जान से मारने की धमकी दी। बोले- सुब्रत सागर यहां से भाग जाओ। यहां नजर मत आना, नहीं तो जान से मारे जाओगे। तुम्हें कपड़े पहना देंगे व चरित्र हनन के केस में फंसा देंगे। अज्ञात बदमाश देर तक उत्पात मचाते रहे। घटना से आहत आचार्य ने पुलिस से सुरक्षा देने की मांग की है, जिससे समाज को कलंकित होने से बचा सकें। इस संबंध में उन्होंने समाज के वरिष्ठ लोगों को बुलाकर इस समस्या का निदान कर दिगंबर संत को इस पीड़ा से दूर करने की मांग की है।

लाठियां ठोकते रहे बदमाश, हमने नहीं खोला दरवाजा

तीर्थ स्थल के सेवादार उमेश जैन ने बताया, पिछले कुछ समय से तीर्थ स्थल के ट्रस्ट के रुपयों का लेन-देन का विवाद चल रहा है। विवाद में जयपुर निवासी समाज के कुछ व्यक्ति भी शामिल हैं। आरोप है, इस विवाद के कारण ही यह घटनाक्रम हुआ है। धमकी देने वाले देर तक दरवाजे पर लाठी ठोकते रहे। कोई अनहोनी होने के डर से दरवाजा नहीं खोला।

Krishnapal Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned