scriptSanwer : Industrial Area | ड्रेनेज के लिए निगम ने आधी-अधूरे पाइप दबाकर डाल दी मिट्टी | Patrika News

ड्रेनेज के लिए निगम ने आधी-अधूरे पाइप दबाकर डाल दी मिट्टी

करोड़ों रुपए संपति कर और संधारण शुल्क देने के बाद भी सांवेर रोड औद्योगिक क्षेत्र ड्रेनेज, स्टार्म वाटर लाइन और पीने के पानी के लिए संघर्ष अभी जारी है।

इंदौर

Published: June 16, 2022 07:25:44 pm

इंदौर. प्रदेश का सबसे पुराना और रोजगार देने वाला सांवेर रोड औद्योगिक क्षेत्र इन दिनों नगर निगम द्वारा किए गए वादों के फेर में उलझा हुआ है। करोड़ों रुपए संपति कर और संधारण शुल्क देने के बाद भी ड्रेनेज, स्टार्म वाटर लाइन और पीने के पानी के लिए संघर्ष अभी जारी है। बारिश सिर पर है, इंडस्ट्री डूबने का खतरा मंडरा रहा है। बावजूद इसके जिन सेक्टर में ड्रेनेज लाइन डाल दी गई है, इसकी सही जानकारी निगम अधिकारी उद्योगपतियों को नहीं दे रहे हैं। आधी-अधूरी लाइनें डाल कर पाइपों पर मिट्टी डाल दी गई है। उद्योगपति कनेक्शन के लिए अप्लाय कर रहे हैं, तो निगम अधिकारी फैक्ट््ियों को कनेक्शन नहीं दे रहे हैं।
सांवेर रोड क्षेत्र में 6 सेक्टर है। ए से एफ सेक्टर तक लगातार इंफास्ट्रक्चर विकास की मांग हो रही है। एआइएमपी का कहना है,निगर निगम संपत्ति कर ले रही है, डीआइसी संधारण शुल्क ले रही है। 50 साल के बाद भी दोनों ही संगठन उद्योगों को मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाने में असमर्थ रहे हैं। नगर निगम ने आश्वासन दे कर ड्रेनेज की योजना तैयार की है। आधी-अधूरी डाल कर उद्योगों को सुविधा के बजाय दुविधा में डाल दिया है।
ड्रेनेज डाल दी, तो कनेक्शन दे
ए-सेक्टर में अधिकांश भाग में खुदाई नजर आती है। यहां पर चेंबर भी बने हुए हैं। जिन फैँक्ट्रिो के आगे से यह लाइनें गई हैं, उन्होंने बताया, निगम को कनेक्शन के लिए अप्लाय किया है, लेकिन आज तक ना जवाब मिला और ना ही कनेक्ट की है। जब ड्रेनेज डाल दी तो कनेक्शन देना चाहिए। सवाल यह उठ रहा है, इन पाइपों से नगर निगम कौन सा पानी ले जाएगा, यह कहां जाएगा। इस संबंध में निगम अफसरों ने उद्योगपतियों को कोई नक्शा या प्लान भी नहीं बताया है। अंधेरे में रख कर ड्रेनज का काम किया है। वह भी आधे-अधूरे क्षेत्र में।
16 करोड़ मंजूर होना बताया
एक साल पहले प्रदूषित पानी का मुद्दा उठने के बाद सभी क्षेत्रों में ड्रेनेज लाइन डालने का प्लान बना है। इसके लिए सांवेर रोड क्षेत्र के लिए 16 करोड़ रुपए की राशि मंजूर होना बताया गया। यह स्पष्ट नहीं किया गया, यह प्लान रहवासी क्षेत्रों का होगा या औद्योगिक क्षेत्रों का। फिर कुछ दिनों के बाद ए सेक्टर, बी व सी सेक्टर में लाइने डालने का काम शुरू किया गया। हाल ही में हुई बैठक में बताया गया था, अधिकांश हिस्से में लाइन डाल दी गई है। इसमें यह स्पष्ट नहीं किया गया, ड्रेनेज डाली गई या एफ्लुएंट ट्रीटमेंट प्लांट के लिए यह लाइनें डाली है। खास कर एफ व ई-सेक्टर को ले कर असमंजस की स्थिति बनी हुई है। उद्योगपतियों को आशंका है, इन पाइपों के माध्यम से पानी बह कर अलग-अलग क्षेत्र के निचले सेक्टर में तबाही नहीं मचा दे।
ड्रेनेज के लिए निगम ने आधी-अधूरे पाइप दबाकर डाल दी मिट्टी
निगम को अवगत कराया है
संगठन के अध्यक्ष प्रमोद डफरिया का कहना है, अनेक क्षेत्रों में ड्रेनज डाली गइ है। इनसे किसी उद्योग या फैक्ट्री को नहीं जोड़ा गया है। ऐसे में इसका उपयोग क्या होगा? पता नहीं चल रहा है। निगम को अवगत कराया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: एकनाथ शिंदे की याचिका पर SC ने डिप्टी स्पीकर, महाराष्ट्र पुलिस और केंद्र को भेजा नोटिस, 5 दिन के भीतर जवाब मांगाMaharashtra Political Crisis: सुप्रीम कोर्ट से शिंदे खेमे को मिली राहत, अब 12 जुलाई तक दे सकते है डिप्टी स्पीकर के अयोग्यता नोटिस का जवाबMaharashtra Political Crisis: क्या महाराष्ट्र में दो-तीन दिनों में सरकार बना लेगी बीजेपी? यहां पढ़ें पूरा समीकरणPresidential Election: यशवंत सिन्हा ने भरा नामांकन, राहुल गांधी-शरद पवार समेत विपक्ष के कई बड़े नेता मौजूदPunjab Budget 2022: 1 जुलाई से फ्री बिजली; यहां पढ़ें पंजाब सरकार के पहले बजट में क्या-क्या है खासपटना विश्वविद्यालय के हॉस्टलों में छापेमारी, मिला बम बनाने का सामानMumbai News Live Updates: शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे का बड़ा बयान, कहा- ये राजनीति नहीं है, ये अब सर्कस बन गया हैMaharashtra: ईडी के समन पर संजय राउत ने कसा तंज, बोले-ये मुझे रोकने की साजिश, हम बालासाहेब के शिवसैनिक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.