कब तैयार होगा सरवटे बस स्टैंड

अगस्त में पूरा होना था कार्य

इंदौर. शहर से बाहर जाने वाली बसों के साथ ही सिटी बसों के टर्मिनल के तौर पर इस्तेमाल करने के लिए सरवटे बस स्टैंड को विकसित करने का काम मार्च 2019 में शुरू किया गया था। वैसे तो इस काम को अगस्त 2020 में पूरा हो जाना चाहिए था। लेकिन अभी भी इसका 60 फीसदी काम ही पूरा हो पाया है। बताया जा रहा है कि अभी भी यहां से बसों के संचालन का काम मार्च तक ही शुरू हो पाएगा।
बस स्टैंड की बिल्डिंग को दो हिस्सों में बनाया जाना है। इसमें तलघर में पार्किंग और तल मंजिल पर बसों के खड़े रहने के लिए स्टैंड बनना है। उसके अलावा यहां पर यात्रियों के लिए प्रतीक्षालय सहित मार्केट बनना है। नगर निगम ने बस स्टैंड की पुरानी बिल्डिंग के जर्जर होने पर इसकी पुरानी बिल्डिंग को 26 मई 2018 को तोड़ दिया गया था। इसके बाद यहां नई बिल्डिंग बनाने की प्लानिंग शुरू की गई थी। नगर निगम को लगभग 10 महीने का समय इसकी डिजाइन तय करने और टेंडर प्रक्रिया ही पूरी करने में लग गया था। इसके बाद मार्च 2019 में 9.97 करोड़ की लागत से नई बिल्डिंग बनाने का काम शुरू किया गया था। पहले चरण में प्राथमिकता के आधार पर यहां का टर्मिनल खड़ा करना था। लेकिन यहां काम शुरू होने के बाद से ही उसकी रफ्तार धीमी ही रही। हालत यह है कि अगस्त 2020 में जो काम पूरा हो जाना चाहिए था। वह दिसंबर में भी पूरा नहीं हो पाया है। वहीं, अभी भी यहां पर काम पूरा करने में लगभग 3 माह का समय ओर लगेगा।
लग चुकी पेनल्टी
इसे बनाने वाले ठेकेदार पर धीमी गति से काम करने के लिए नगर निगम पहले भी कार्रवाई कर चुकी है। मार्च 2019 में ठेकेदार द्वारा दिए गए बिल में 50 फिसदी की कटौत्री तत्कालीन निगमायुक्त ने इसकी धीमी गती के चलते की थी। लेकिन उसके बाद भी यहां के काम में तेजी नहीं आई है।
तेजी से करवा रहे हैं काम
नगर निगम के उपयंत्री पीसी जैन के मुताबिक पहले कोविड और उसके बाद बरसात के कारण काम की गति धीमी जरूर हुई थी, लेकिन अब हम तेजी से काम करवा रहे हैं। जल्द ही बस स्टैंड को बसों के आने जाने के लिए दोबारा खोल दिया जाएगा।

रमेश वैद्य Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned