बीएसएफ जवान के बेटे ने 8वीं की छात्रा से किया दुष्कर्म

बीएसएफ जवान के बेटे ने 8वीं की छात्रा से किया दुष्कर्म

Krishnapal Singh Chauhan | Publish: Aug, 30 2018 05:05:05 AM (IST) Indore, Madhya Pradesh, India

एरोड्रम थाना क्षेत्र का मामला, छात्रा के स्कूल नहीं पहुंचने पर प्रिंसिपल ने परिजनों से किया था संपर्क, काउंसलिंग में हुआ खुलासा

 

एरोड्रम क्षेत्र के एक प्रतिष्ठित स्कूल में पढऩे वाले बीएसएफ जवान के नाबालिग बेटे के खिलाफ स्कूल की 8 वीं की छात्रा से दुष्कर्म करने के मामले में पुलिस ने बुधवार को केस दर्ज किया है। आरोपी छात्र बहाने से छात्रा को अपने घर ले गया। अगले दिन छात्रा के स्कूल नहीं पहुंचने पर प्रिंसिपल ने उसके परिजनों से संपर्क किया तो घटना का खुलासा हो गया।

टीआइ अशोक पाटीदार के मुताबिक 8 वीं की नाबालिग छात्रा की शिकायत पर ग्यारहवीं के नाबालिग छात्र के खिलाफ दुष्कर्म की धारा में केस दर्ज किया है। घटना मंगलवार की है। छात्रा रोज की तरह ऑटो से स्कूल के लिए निकली। आरोपी उसे स्कूल के बाहर मिला। वह उसे गार्डन घुमाने की बात कहकर बहाने से अपने घर लेकर पहुंचा। यहां उसने छात्रा को खाना खिलाया उसके बाद बेडरूम में ले जाकर दुष्कर्म किया। शाम को छात्रा अपने घर पहुंची। अगले दिन स्कूल प्रिंसिपल ने छात्रा के परिजनों से फोन पर संपर्क कर उसके स्कूल नहीं पहुंचने की सूचना दी। तब परिजन बेटी के स्कूल नहीं पहुंचने की बात पर हैरान रह गए। वहीं प्रिंसिपल को छात्रा के साथ कुछ गलत होने की सूचना मिली। उन्होंने छात्रा की बड़े प्यार से काउंसलिग की। शुरूआती पूछताछ में बच्ची ने कुछ नहीं बताया। लेकिन बाद में उसने आरोपी की करतूतों का उजागर कर दिया। तब छात्रा ने बताया की एक साल से आरोपी उसके संपर्क में है। गुस्साए परिजन थाने पहुंचे और आरोपी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग करने लगे। आरोपी के बारे में पता चला है की उसके पिता बीएसएफ में पदस्थ है।टीआइ ने बताय की इस पूरे मामले में थाने की महिला अधिकारी ने भी छात्रा की काउंसलिंग करने में मदद की। केस दर्ज होने के बाद से ही आरोपी की तलाश जारी है। टीआइ ने बताय की इस पूरे मामले में थाने की महिला अधिकारी ने भी छात्रा की काउंसलिंग करने में मदद की। केस दर्ज होने के बाद से ही आरोपी की तलाश जारी है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned