स्कूल मैनेजमेंट और कैंटीन संचालक आमने-सामने

स्कूल मैनेजमेंट और कैंटीन संचालक आमने-सामने

Sanjay Rajak | Publish: Sep, 16 2018 11:24:12 AM (IST) | Updated: Sep, 16 2018 11:24:13 AM (IST) Indore, Madhya Pradesh, India

इंडेक्स ग्रुप के माउंट लिटरा स्कूल का मामला

 

इंदौर. न्यूज टुडे.

खुड़ैल स्थित माउंट लिटरा स्कूल में मैनेजमेंट और कैंटीन संचालक के बीच विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। मैनेजमेंट द्वारा शनिवार दिनभर कैंटीन संचालक को काम करने दिया गया न बकाया राशि का पेमेंट किया गया। मैनेजमेंट की ओर से सोमवार को मामले के निपटान के लिए संचालकों को स्कूल बुलाया है।

उल्लेखनीय है कि खुड़ैल स्थित इंडेक्स ग्रुप के माउंट लिटरा स्कूल में शनिवार सुबह जमकर हंगामा हुआ। मैनेजमेंट से पुरानी बकाया राशि को लेकर हुए विवाद में कैंटीन संचालक और स्टाफ ने खुद को कैंटीन में कैद कर लिया। कैंटीन संचालक का आरोप है कि स्कूल मैनेजमेंट के लोग शराब पीकर गाली-गलौज और धक्कामुक्की कर रहे थे और कैंटीन से बाहर निकाल रहे थे, जबकि हमें स्कूल मैनेजमेंट से करीब २५ लाख रुपए लेने हैं। इधर, स्कूल मैनेजमेंट ने कैंटीन संचालकों पर आरोप लगाया है कि ठेकेदार द्वारा दो दिन से होस्टल के बच्चों को बांसी खाना दिया जा रहा था, इसलिए दूसरे ठेकेदार से काम ले रहे हैं।

कैंटीन संचालक रितेश गर्ग ने बताया कि तीन माह पहले कैंटीन का ठेका मिला था। यहां बच्चों को भोजन उपलब्ध कराना था, जिसके बदले में स्कूल मैनेजमेंट द्वारा ९ लाख रुपए प्रति माह देने का करार हुआ, लेकिन तीन माह में स्कूल मैनेजमेंट द्वारा सिर्फ ७ लाख रुपए का पेमेंट ही किया गया। करीब २५ लाख रुपए बकाया हैं।

गर्ग ने बताया कि कल मैनेजमेंट की धमकियों के बाद हमने पुलिस को मदद के लिए बुलाया था, लेकिन पुलिस सीधे स्कूल मैनेजमेंट से मिलकर चली गई। इसके बाद हमने डीआइजी को शिकायत की। दोबारा पुलिस आई, लेकिन मदद नहीं मिली। स्कूल मैनेजमेंट ने सोमवार को बुलाया है। अब भी हमारे कर्मचारी स्कूल में ही हैं।

बेवजह परेशान कर रहे हैं

स्कूल के सीइओ रूपेश वर्मा ने बताया कि कैंटीन संचालक द्वारा बेवजह का आरोप लगाया जा रहा है। करीब ३ से ४ लाख रुपए का पेमेंट किया जाना है, जिसकी प्रक्रिया चल रही है। वैसे भी कैंटीन संचालक के पास वैध फूड लाइसेंस नहीं है। इसके साथ ही लेबर आदि का पुलिस वैरिफिकेशन भी नहीं है।

Ad Block is Banned