80 लाइन होने के बाद भी बिजली कंपनी की 1912 सेवा फेल, नहीं उठ रहे कॉल

80 लाइन होने के बाद भी बिजली कंपनी की 1912 सेवा फेल, नहीं उठ रहे कॉल

Hussain Ali | Updated: 12 Jun 2019, 06:25:35 PM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

मंत्री की नाराजगी के बाद भी कंपनी को बचाने में जुटे अफसर

इंदौर. बिजली कंपनी की 1912 सुविधा 80 लाइन होने के बाद भी फेल साबित हो रही है। अब कंपनी उपभोक्ताओं को वैकल्पिक सुविधा के नाम पर फिर ठगने की तैयारी में है। ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह ने भी पिछले दिनों 1912 की सुविधा को लेकर नाराजगी जताई थी।

must read : मिट्टी की ‘हेल्थ’ जांचने में जुटे अधिकारी, खेतों में जाकर किसानों से ले रहे सैंपल

बिजली कंपनियां हर साल बिजली की दरें बढ़ाकर राजस्व एकत्र कर रही हैं। जनता के पैसे से उनकी सुविधा के लिए संचालित कॉल सेंटर का 1912 का नंबर समय आने पर बंद पड़ जाता है। करोड़ों का ठेका इसके लिए प्राइम वन कंपनी को दिया गया है। पिछले माह में ही दो बार कई घंटों के लिए 1912 सेवा बंद रही। मेंटेनेंस और सुधार के नाम पर बंद की गई सेवा मौका आने पर उपभोक्ताओं के लिए सफेद हाथी साबित हो रही है। बावजूद जिम्मेदार कंपनी पर कोई कार्रवाई नहीं कर रहे। ऊर्जा मंत्री ने भले ही 1912 सुविधा को फेल मान लिया हो पर अफसर भी तकनीकी कारणों के चलते व्यवस्था को फ्लाप न मानते हुए सुधार की गुंजाइश बताकर कंपनी को बचाने में जुट गए हैं।

must read : इन 38 कोचिंग संस्थानों को आज तक की मोहलत, कल हो जाएगी सील

अब शुरू करेंगे वाट्सऐप योजना

जनता की शिकायत के लिए कॉल सेंटर भी २४ घंटे चालू है। कंपनी वाट्सऐप योजना शुरू करने जा रही है। हर जोन का एक वाट्सऐप नंबर होगा, जिस पर उपभोक्ता शिकायत दर्ज करवा सकेंगे।

-1912 की सुविधा में सुधार का प्रयास कर रहे हैं। कभी-कभी तकनीकी कारणों से परेशानी आ जाती है। हम समानांतर वाट्सऐप सुविधा शुरू करने जा रहे हैं, जिस पर बिजली गुल सहित अन्य शिकायतें दर्ज होंगी। जोन पर वापस कर्मचारी बैठाने के निर्णय भी उपभोक्ताओं की सुविधा का एक अंग है।
सुधीर आचार्य, कॉल सेंटर प्रभारी

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned