बिजली कंपनी का छापा, स्मार्ट मीटर ने पकड़ी सात लाख रुपए की बिजली चोरी

बिजली कंपनी का छापा, स्मार्ट मीटर ने पकड़ी सात लाख रुपए की बिजली चोरी
बिजली कंपनी का छापा, स्मार्ट मीटर ने पकड़ी सात लाख रुपए की बिजली चोरी

Hussain Ali | Updated: 19 Sep 2019, 07:37:00 PM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

- दो जगह स्मार्ट मीटर से छेड़छाड़ के मिले मामले

 

इंदौर. बिजली चोरी व अन्य अनियमितताएं करने वालों पर बिजली कंपनी की कार्रवाई जारी है। बुधवार को की जा रही हैं। दो स्थानों पर स्मार्ट मीटर से छेड़छाड़ कर बिजली चोरी मिली। अब कंपनी उसने करीब सात लाख रुपए अर्थदंड के रूप में वसूलेगी।

शहर अधीक्षण यंत्री अशोक शर्मा ने बताया, साउथ तोड़ा में मोहम्मद अनीस ने एक किलोवाट का कनेक्शन लेकर स्मार्ट मीटर में छेड़छाड़ कर लोहे का व्यावसायिक काम शुरू कर दिया। यहां करीब बीस किलोवॉट का लोड पाया गया। यहां से बिजली कंपनी करीब पांच लाख रुपए वसूलेगी। साथ ही स्मार्ट मीटर नष्ट करने की रकम भी वसूली जाएगी। वहीं सिकंदराबाद कॉलोनी में रईस खान पिता फ याज खान के यहां स्मार्ट मीटर में तोडफ़ ोड़ कर बिजली चोरी की जा रही थी। जीपीएच जोन प्रभारी एसएस रघुवंशी, इंजीनियर अंकुर गुप्ता, महेश बिष्ट, भूषण हार्डिया आदि ने छापामार कार्रवाई कर सदर बाजार पुलिस थाने में भी रिपोर्ट के लिए आवेदन दिया है। यहां 9 किलोवाट का वास्तविक लोड पाया गया। इस उपभोक्ता से कुल दो लाख की रकम वसूलने की कार्यवाही प्रारंभ की गई है।

बिजली कंपनी का छापा, स्मार्ट मीटर ने पकड़ी सात लाख रुपए की बिजली चोरी

ढाई करोड़ बकाया, एसटीआइ की बिजली काटी

पीथमपुर में फेब्रिकेशन का काम करने वाली एसटीआइ पर ढाई करोड़ रुपए बिजली बिल बकाया होने पर बिजली कंपनी ने उसका औद्योगिक कनेक्शन काट दिया। 15 दिन से कंपनी में काम पूरी तरह बंद है, लेकिन कंपनी भी कनेक्शन जुड़वाने में रुचि नहीं ले रही है। बिजली कंपनी के ग्रामीण वृत्त के कामेश श्रीवास्तव ने कहा कि जब तक बिल की राशि जमा नहीं होगी, कनेक्शन नहीं जोड़ा जाएगा। उन्होंने बताया कि ग्रामीण शहर वृत्त में चलने वाले बड़े उद्योगों के कनेक्शनधारकों को बिल की राशि जमा नहीं करने पर नोटिस जारी किया है। एक करोड़ रुपए से अधिक बकाया होने पर पांच कंपनियों और कुछ शासकीय विभागों को भी नोटिस जारी किया है। एनवीडीए ने नोटिस जारी करने पर 6 करोड़ रुपए की राशि जमा करवाई है। जो कंपनियां बिल जमा नहीं करती, उन्हें नोटिस देकर 15 दिन का समय दिया जाता है। बिल जमा नहीं करने पर कनेक्शन काट दिया जाता है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned