नदी के तेज बहाव में बह गया बेटा, दो दिन तक नदी की ओर टकटकी लगाकर देखती रही मां, नहीं मिला बेटा

नदी के तेज बहाव में बह गया बेटा, दो दिन तक नदी की ओर टकटकी लगाकर देखती रही मां, नहीं मिला बेटा
नदी के तेज बहाव में बह गया बेटा, दो दिन तक नदी की ओर टकटकी लगाकर देखती रही मां, नहीं मिला बेटा

Reena Sharma | Updated: 16 Sep 2019, 12:10:54 PM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

-सांवेर में कटकिया की पूर में बह गए युवक का पता नहीं चला

-एसडीआरएफ की टीम ने सुबह से रात तक की तलाश

सांवेर . नगर में कटकिया नदी में आई पूर में शनिवार को तेज बहाव में बहकर गायब हुए युवक का रविवार को भी पता नहीं चला। शनिवार की तरह ही रविवार को भी इंदौर से एसडीआरएफ की टीम सांवेर पहुंची और मोटर बोट की सहायता से नदी में दिनभर मशक्कत की मगर कामयाबी नहीं मिली। दूसरी ओर किनारे खड़े सैकड़ों तमाशबीनों के बीच परिजन भी इस आस में खड़े रहे कि लडक़ा मिल जाए।

must read : 40 मिनट में एमपीसीए के संविधान में 129 संशोधन, अब बिना सुप्रीम कोर्ट की इजाजत के नहीं होगा संशोधन

शनिवार को सांवेर का जो युवक रोहित पिता भगतराव (22) जल क्रीड़ा करते करते तेज बहाव में भंवर में फंसकर डूब गया। उसकी खोज में रविवार को भी एसडीआरएफ की टीम सुबह से लेकर देर शाम तक नदी में इधर से उधर घूमती रही, हर संभव कोशिश की, किंतु निराशा ही लगी। अंधेरा होने तक कोई पता नहीं चल पाने से टीम वापस लौट गई। तहसीलदार तपिश पांडे शनिवार की तरह रविवार को भी नदी में एसडीआरएफ की टीम की करवाई के दौरान कई घंटों खड़े रहे। मोटर बोट पर सवार होकर एसडीआरएफ की टीम की कारवाई को देखने के लिए कटकिया पुल पर शनिवार की तरह रविवार को भी दिनभर लोगों को हुजूम लगा रहा।

must read : पति को प्रेमिका के साथ देखकर पत्नी के उड़े होश, विरोध किया तो दोनों ने पत्नी का कर दिया ये हाल

परिजनों की आंखें पथरा गईं

रोहित के डूबने की खबर मिलते ही शनिवार को उसकी मां, मौसियां, मामा और तमाम परिजन कटकिया किनारे पहुंच गए। वे एसडीआरएफ की टीम की कार्रवाई को देखते रहे कि टीम राहुल को बाहर लेकर आ जाएगी, लेकिन अंधेरा होने तक नहीं मिला तो निराश हो गए युवक की मां तो नदी में कूदने पर ही आमादा हो गई थीं जिसे लोगों ने बड़ी मुश्किल से संभाला। रविवार को परिजनों ने उसकी मां को तो नदी तक नहीं आने दिया मगर मामा, मौसियां और अन्य परिजन सुबह से नदी पर आ गए थे जो शाम तक वहीं बने रहे और अंधेरा होने के साथ निराश होकर घर लौट गए।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned