scriptStone pelting on police and corporation team in indore | अतिक्रमण हटाने पहुंची पुलिस और निगम की टीम पर पथराव | Patrika News

अतिक्रमण हटाने पहुंची पुलिस और निगम की टीम पर पथराव

अतिक्रमणकर्ताओं ने टीम पर पत्थर फेंके और काफी देर तक विवाद होता रहा।

इंदौर

Published: January 22, 2022 03:26:34 pm

इंदौर. अतिक्रमण हटाने पहुंची पुलिस और नगर निगम की टीम पर पथराव की घटना सामने आई है। जैसे ही टीम अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई करने पहुंची, अतिक्रमणकर्ताओं ने टीम पर पत्थर फेंके और काफी देर तक विवाद होता रहा।
teem.jpg

जानकारी के अनुसार इंदौर के श्याम नगर एक्सटेंशन क्षेत्र में नगर निगम की टीम मय पुलिस बल के अतिक्रमण हटाने पहुंची थी, यहां पर अतिक्रमण कर्ताओं की महिलाओं द्वारा विवाद किया गया, पुलिस और नगर निगम की टीम पर घर के ऊपर से ही पत्थर फेंके गए, इस दौरान टीम को अपना बचाव करने के लिए यहां वहां भागना पड़ा।

6 साल की बच्ची का बेरहम आसरा-कपड़ों की पेटी में बंद करने की देता था सजा
बड़वाह क्षेत्र निवासी मां ने आर्थिक दिक्कतों से मजबूर होकर अपनी छह साल की बच्ची परिचित महिला को सौंपी। यह आसरा बच्ची के लिए बेरहम साबित हुआ । महिला व उसके दो बच्चे उचित पालन पोषण की जगह बच्ची से मारपीट करते और भरपेट भोजन भी नहीं देते थे। इसके अलावा कपड़ों की पेटी में बंद करने की भी सजा दी जाती थी। आसपास के लोगों को जब बच्ची पर हो रहे अत्याचार देखे नहीं गए तो चाइल्ड लाइन को सूचना दी।

चाइल्ड लाइन को-ऑर्डिनेटर राहुल गोठाने व टीम ने पुलिस की मदद से बच्ची का रेस्क्यू किया। टीम जब बच्ची के पास पहुंची तो उसके शरीर पर चोट के निशान थे। बच्ची इस कदर सहमी हुई थी कि कुछ बता भी नहीं पा रही थी। वह भूखी थी। टीम ने बच्ची को भोजन कराया और तेजाजी नगर थाने लाए। यहां एसआइ अभिरुचि ने मामला बाल कल्याण समिति के समक्ष प्रस्तुत किया।

दर्द की दास्तां

-बड़वाह निवासी बच्ची की मां की आर्थिक स्थिति नहीं थी ठीक।

-परिचित महिला को पालन पोषण के लिए सौंप दी थी बच्ची।


केस दर्ज कराया

बच्ची की मां का परिचय तेजाजी नगर की फैक्ट्री में काम करने वाली महिला से था । आर्थिक परेशानियों के चलते मां ने बच्ची को महिला के पास छोड़ दिया था। बाल कल्याण समिति ने बच्ची से मारपीट करने वाली महिला व उसके दोनों बच्चों पर तेजाजी नगर थाने में केस दर्ज कराया है । बालिका का मेडिकल करवाकर संस्था में रखने का आदेश दिया गया। चाइल्ड लाइन टीम के दीपक गोस्वामी एवं नेहा सक्सेना ने बताया कि बच्ची को अभी संस्था में रखा है। बच्ची बेहद डरी हुई है। वह कुछ बता नहीं पा रही है। उसके परिजन की भी जानकारी निकाली जा रही है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

पीएम नरेंद्र मोदी ने अखिल भारतीय शैक्षिक समागम का किया उद्धाटन बोले नई शिक्षा नीति मातृभाषा में पढ़ाई के रास्ते खोल रहीBritain के पीएम बोरिस जॉनसन ने दिया इस्तीफा, जानें वो 'एक फैसला' जिससे गई कुर्सीMaharashtra Cabinet: कैबिनेट विस्तार पर बीजेपी और शिंदे गुट में ऐसे बनी सहमति, जानें किसके के खाते में कौन-कौन से विभागVideo: पुलिस जीप में हंसता हुआ आराम से बैठा, हाथों से किए इशारे, सलमान का एक और वीडियो वायरलभारत ने श्रीलंका को तीसरे वनडे में 39 रन से हराया, 3-0 से क्लीन स्वीप कर रचा बहुत बड़ा इतिहासWest Bengal: TMC के 3 पंचायत नेताओं की बेरहमी से हत्या, हमलावर मौके से फरारMaharashtra: सपा विधायक अबू आजमी को जान से मारने की धमकी देने के मामले में मुंबई पुलिस की बड़ी कार्रवाई, पुणे से दो आरोपी गिरफ्तारKaali Poster Row: विवाद के बीच CM ममता बनर्जी का बड़ा बयान, महुआ मोइत्रा को दी नसीहत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.