scriptStreet dog brutally beaten up, video went viral broke his spine by thr | बेजुबान स्ट्रीट डॉग को बेरहमी से पीटा, विडियो हुआ वायरल | Patrika News

बेजुबान स्ट्रीट डॉग को बेरहमी से पीटा, विडियो हुआ वायरल

डंडे से पीट-पीटकर रीढ़ की हड्डी तोड़ डाली, पशु अधिनिया के तहत मामला दर्ज

इंदौर

Published: June 11, 2022 05:01:13 pm

इंदौर के बाणगंगा इलाके में एक व्यक्ति ने स्ट्रीट डॉग को डंडे से पीट पीट कर उसकी रीड़ की हड्डी तोड़ दी। जिसकी विडियो सोशल मिडिया पर वायरल हो गया। विडिया के वायरल होने के बाद स्थानीय पशु कार्यकर्ताओं ने आरोपी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। योगेश गरासिया की शिकायत के आधार पर आरोपी का खिलाफ के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

patrika_mp_street_dog_brutally_beaten_up.png

पुलिस के अनुसार मामला 6 जून की रात 12:00 बजे का है, जहां आरोपी ने आवारा कुत्ते को बेरहमी से डंडे से पीटा और उसकी रीड़ के दो टुकड़े कर दिए। घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हो रही है होने लगा जिसके बाद मामला सामने आया। बाणगंगा थाना प्रभारी राजेंद्र सोनी ने बतायाल कि स्थानीय पशु कार्यकर्ताओं ने शिकायत दर्ज कराई। जिसके बाद आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 428 और 429 और पशु अधिनियम के तहत पशुओं के खिलाफ क्रूरता की रोकथाम की धारा 11 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

पहले भी होते रहे हैं ऐसे मामले
पशुओं के साथ क्रूरता का यह कोई पहला मामला नहीं है। पहले भी ऐसे कई मामले देखे गए हैं जब इंसान अपना आपा खोते हुए जानवरों की जान के दुश्मन बन गए हो। इसके पहले भी ग्वालियर शहर में एक शिक्षक ने अपने पड़ोसी के कुत्ते को डंडे से पीट-पीटकर मार डाला था ।कुत्ते की गलती बस इतनी थी कि उसने शिक्षक के घर के दरवाजे पर टॉयलेट कर दिया था । डॉगी के टॉयलेट करने से शिक्षक इतना नाराज हो गया कि उसने कुत्ते को पीट पीट कर मार डाला।

पशुओं के प्रति क्रूरता का निवारण अधिनियम 1960
पशु क्रूरता से निपटने के उद्देश्य से पशुओं के प्रति क्रूरता का निवारण अधिनियम 1960 का निर्माण भारत की संसद द्वारा किया गया है। इस अधिनियम के माध्यम से पशुओं के प्रति होने वाली क्रूरता को रोकने के संपूर्ण प्रयास किए गए हैं। अधिनियम की धारा 11पशुओं के प्रति क्रूरता के व्यवहार का उल्लेख करती है।

- किसी पशु को पीटना, ठोकर मारना, बहुत ज्यादा सवारी और अधिक बोझ लादना, ऐसा व्यवहार करना जिससे उसे अनावश्यक पीड़ा हो।
- कोई पशु अपनी उम्र, कोई घाव, किसी फोड़े के कारण कार्य करने में असमर्थ हो, उस पशु को फिर भी उस कार्य में लगाया जाना।
- किसी भी पशु को कोई भी नुकसान पहुंचाने वाली दवाई या पदार्थ जानबूझकर खिलाना।
- किसी पशु को ले जाने जैसे किसी गाड़ी मोटर में लेकर जाना जिससे पशु को कष्ट पहुंचे।
- किसी पशु को किसी छोटे पिंजरे में रखना जो पशु के आकार के हिसाब से छोटी हो और पशु को कष्ट पहुंचे।
- किसी पशु को अनुचित या छोटी रस्सी - जंजीर से बांधना जिससे उसे कष्ट पहुंचे।
- पशु का मालिक होने के बाद भी पशु के भोजन पानी की व्यवस्था न करना।
- जानबूझकर पशु को ऐसी जगह छोड़ देना जहां पर उसको दाना पानी खाना नहीं मिले और वह भूखा मर जाए।
- विकलांग, भूखा, बीमार और प्यासे पशु को बाजार में बिक्री के लिए रखना।
- मनोरंजन के लिए दो पशुओं को आपस में लड़ाई कराना जिससे उनको चोट पहुंचे।
- बंदूक से निशाना लगाकर गोली चलाना जिससे पशुओं की मौत हो जाए या घायल हो जाए।

उपरोक्त सभी बातें पशु क्रूरता की श्रेणी में आती हैं। पशु अपराध के लिए यदि पहली बार कोई अपराध करता है तो 25 हजार रुपए से लेकर 1 लाख तक र्माने का प्रावधान है वही दूसरी बार फिर या अपराध कारित होता है तो तीन महीने तक की सजा का प्रावधान है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान में 26 से फिर होगी झमाझम बारिश, यहां बरसेगी मेहरबुध ने रोहिणी नक्षत्र में किया प्रवेश, 4 राशि वालों के लिए धन और उन्नति मिलने के बने योगबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयपनीर, चिकन और मटन से भी महंगी बिक रही प्रोटीन से भरपूर ये सब्जी, बढ़ाती है इम्यूनिटीबेहद शार्प माइंड के होते हैं इन राशियों के बच्चे, सीखने की होती है अद्भुत क्षमतानोएडा में पूर्व IPS के घर इनकम टैक्स की छापेमारी, बेसमेंट में मिले 600 लॉकर से इतनी रकम बरामदझगड़ते हुए नहर पर पहुंचा परिवार, पहले पिता और उसके बाद बेटा नहर में कूदा3 हजार करोड़ रुपए से जबलपुर बनेगा महानगर, ये हो रही तैयारी

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: शिंदे खेमे में आ चुके हैं सरकार बनाने भर के विधायक! फिर क्यों बीजेपी नहीं खोल रही अपने पत्ते?Maharashtra Political Crisis: ‘मातोश्री’ में मंथन! सड़क पर शिवसैनिकों के उपद्रव का डर, हाई अलर्ट पर मुंबई समेत राज्य के सभी पुलिस थानेMaharashtra Political Crisis: 24 घंटे के अंदर ही अपने बयान से पलट गए एकनाथ शिंदे, बोले- हमारे संपर्क में नहीं है कोई नेशनल पार्टीBharat NCAP: कार में यात्रियों की सेफ़्टी को लेकर नितिन गडकरी ने कर दिया ये बड़ा काम, जानिए क्या होगा इससे फायदा2-3 जुलाई को हैदराबाद में BJP की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक, पास वालों को ही मिलेगी इंट्री, सुरक्षा के कड़े इंतजामMumbai News Live Updates: शिवसेना ने कल पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक बुलाई, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़ेंगे उद्धव ठाकरेनीति आयोग के नए CEO होंगे परमेश्वरन अय्यर, 30 जून को अमिताभ कांत का खत्म हो रहा है कार्यकालCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.