शिक्षक ने छठी की छात्रा को 6 दिन में लगवाए 168 थप्पड़, कोर्ट ने भेजा जेल

शिक्षक ने छठी की छात्रा को 6 दिन में लगवाए 168 थप्पड़, कोर्ट ने भेजा जेल

Hussain Ali | Updated: 17 May 2019, 01:29:46 PM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

थांदला के जवाहर नवोदय विद्यालय में छठी की छात्रा से शिक्षक द्वारा क्रूरता का मामला सामने आया है।

इंदौर. थांदला के जवाहर नवोदय विद्यालय में छठी की छात्रा से शिक्षक द्वारा क्रूरता का मामला सामने आया है। छात्रा ने होमवर्क नहीं किया तो उसे अन्य छात्राओं से शिक्षक ने छह दिन में 168 थप्पड़ लगवाए। पिता ने शिक्षक की शिकायत पुलिस में कर दी। जांच में शिक्षक दोषी पाए गए, इसके बाद थांदला पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया। उसे कोर्ट में पेश किया गया, जहां से जेल भेज दिया गया।

थांदला में एडीपीओ और मीडिया सेल प्रभारी वर्षा जैन ने बताया कि घटना जनवरी 2018 की है। छात्रा के पिता की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज किया था। शिक्षक ने 13 मई 2019 को थाने में प्रस्तुत होकर सरेंडर किया था। जेएमएफसी कोर्ट थांदला के जज जय पाटीदार ने शिक्षक की जमानत अर्जी ने खारिज कर दी और आरोपी को जेल भेजने के आदेश दिए। छात्रा के पिता शिवप्रतापसिंह ने शिक्षक मनोज वर्मा के खिलाफ शिकायत की थी।

यह है पूरा मामला

पिता के अनुसार बेटी जनवरी 2018 में एक से दस तारीख के बीच स्कूल नहीं गई। इस दौरान उसका स्वास्थ्य ठीक नहीं था जिसकी मेडिकल पर्ची भी उनके पास है। जब छात्रा 11 तारीख को स्कूल गई तो उसका होमवर्क पूरा नहीं था। इस पर शिक्षक मनोज वर्मा ने कक्षा की अन्य 14 छात्राओं से हर दिन उसे दो-दो थप्पड़ लगवाए। 16 तारीख तक छात्रा को हर दिन 28-28 थप्पड़ लगवाए गए। जब एक सप्ताह बाद बेटी घर आई तो वो काफी तनाव में थी। बार-बार पूछने पर उसने घटना के बारे में बताया। 22 तारीख को स्कूल में शिकायत की, लेकिन कार्रवाई नहीं हुई। फिर 25 जनवरी को थाने में शिकायती आवेदन दिया। प्रारंभिक जांच के बाद शिक्षक मनोज वर्मा को निलंबित कर आलीराजपुर में अटैच कर दिया गया था।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned