बिजली बिल की राशि को लेकर उपभोक्ता और कर्मचारी में हुई जमकर मारपीट

बिजली बिल की राशि को लेकर उपभोक्ता और कर्मचारी में हुई जमकर मारपीट

Reena Sharma | Publish: May, 23 2019 06:16:13 PM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

जोनल ऑफिस से लेकर पुलिस थाने तक हुआ हंगामा, दोनों पक्षों ने थाने पर दर्ज कराई एफआईआर और सीएम हेल्पलाइन पर की शिकायत

इंदौर. बिजली बिल की राशि को लेकर कर्मचारी और उपभोक्ता के बीच मारपीट हुई। इसके बाद बिजली के डेली कॉलेज जोनल ऑफिस से लेकर पुलिस थाने तक हंगामा हुआ। दोनों पक्ष ने जहां थाने पर एफआईआर दर्ज कराई, वहीं उपभोक्ता ने पुलिस और बिजली अफसरों द्वारा अभद्रता के साथ मारपीट करने की शिकायत सीएम हेल्पलाइन पर भी की है।

पश्चिम क्षेत्र बिजली वितरण कंपनी के अंतर्गत आने वाले डेली कॉलेज जोन पर कार्तिक पिता प्रहलाद सोनकर निवासी अजय बाग कॉलोनी डेली विजेश पर काम करता है। यह बुधवार को जोन के अंतर्गत आने वाले आजाद नगर के पास बनी इंदौर विकास प्राधिकरण (आईडीए) की बिल्डिंग में बिजली बिल बांटने पहुंचा। इस दौरान कार्तिक ने देखा कि बिल्डिंग में रहने वाले धर्मपाल वर्मा के घर से दूसरे प्रायवेट कमरे में कनेक्शन लिए हुए हैं। इस पर कार्तिक ने धर्मपाल के बेटे गीतेश से कहा कि तुम लोगों ने नीचे वाले कमरे में भी कनेक्शन लिया है, तो इसका पैसा भरना पड़ेगा। इस बात को लेकर दोनों के बीच विवाद हो गया और फिर मारपीट।

गीतेश और धनंजय ने मिलकर कार्तिक की जमकर पिटाई करने के साथ गाली-गलौज अलग की। इसके बाद कार्तिक ने डेली कॉलेज जोन के सहायक यंत्री दीपक बांदिल और उपयंत्री भास्कर घोष को पूरा घटनाक्रम बताया। दोनों अफसरों ने उसका मेडिकल करवाने के साथ संबंधित आजाद नगर थाने पर ले जाकर धर्मपाल वर्मा और उसके दोनों बेटे गितेश व धनंजय के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई। इसकी खबर लगने के बाद धर्मपाल वर्मा ने कार्तिक के अवैध वसूली करने के कारनामे की पोल खोलते हुए डेली कॉलेज के एई बांदिल से शिकायत की, लेकिन उन्होंने एक न सुनी और उन्हें भगा दिया। मामले को लेकर जोनल ऑफिस से लेकर आजाद नगर पुलिस थाने तक हंगामा होता रहा, क्योंकि पुलिस धर्मपाल की रिपोर्ट नहीं लिख रही थी। इस पर उन्होंने शिकायत सीएम हेल्पलाइन के साथ एसपी को की। इसके बाद आजाद नगर टीआई ने धर्मपाल के कहने पर कार्तिक के खिलाफ मारपीट का प्रकरण दर्ज किया है। इसको लेकर कार्तिक के परिजनों ने थआने पर पहुंचकर प्रदर्शन किया।

दोनों बेटों को थाने में बंद करवाकर पिटवाया

इधर, धर्मपाल का कहना है कि हमने मुख्यमंत्री सरल बिजली बिल योजना के तहत 200 रुपए मािह का कनेक्शन करा रखा है, लेकिन मीटर रीडर और बिल बांटने वाला कार्तिक 5 हजार रुपए की मांग कर रहा था। जब हमने पैसे देने से इनकार कर दिया तो मारपीट करने पर उतर आया। इसके साथ ही झूठी रिपोर्ट लिखवाकर मेरे दोनों बेटों को थाने में बंद करवाकर पिटवाया अलग। मैं कार्तिक की शिकायत लेकर बिजली जोनल ऑफिस पर एई के पास पहुंचा तो उन्होंने भी भगा दिया। थाने पर रिपोर्ट न लिखने पर सीएम हेल्पलाइन और एसपी को शिकायत करने के बाद एफआईआर दर्ज की गई। उन्होंने कार्तिक से खतरा होने की बात कहते हुए सुरक्षा की मांग भी की है।ऑनलाइन सिस्टम में अलग-अलग के बजाय दिखते हैं एक साथ

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned