निगम जिस पर करवा रहा एफआइआर वो कांग्रेस में बन गया पदाधिकारी

निगम जिस पर करवा रहा एफआइआर वो कांग्रेस में बन गया पदाधिकारी

Reena Sharma | Publish: Mar, 17 2019 01:38:14 PM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

भोपाल तक हुई शिकायतें: अवैध कॉलोनी काटने वाले पर कांग्रेस में बवाल, 8 फरवरी को निगम ने लिखा था एफआईआर के लिए पत्र, 15 मार्च को कांग्रेस ने पदाधिकारी बनाया

इंदौर. नगर निगम ने धार रोड पर अवैध कॉलोनी काटने के इल्जाम में जफर खान के खिलाफ चंदननगर थाने में शिकायत की थी। खान पर एफआईआर दर्ज होने के पहले ही १५ मार्च को वो न सिर्फ कांग्रेस में शामिल हो गया, बल्कि उसको हाथों-हाथ पदाधिकारी भी बना दिया गया।

धार रोड पर सिरपुर गांव के खसरा नंबर 89/3 पर न्यू लक्ष्मीनगर अवैध कॉलोनी बसी है। इस अवैध कॉलोनी को बसाने के लिए नगर निगम ने पांच लोगों को जिम्मेदार माना था। इन पांच लोगों जिनमें जफर खान, मांगुबाई, राजेंद्र, गोपाल, और प्रेमाबाई निवासी लक्ष्मीनगर सिरपुर शामिल हैं। 16 नंबर जोनल कार्यालय के भवन अधिकारी सुधीर गुलवे ने चंदननगर पुलिस को इन सबकी शिकायत की थी। इन पांचों के खिलाफ गुलवे ने नगर निगम एक्ट की धारा 292 के तहत केस दर्ज करने के लिए आवेदन दिया था। इस आवेदन पर फिलहाल पुलिस ने केस दर्ज नहीं किया है। वहीं दूसरी ओर 15 मार्च को जफर खान सहित बबलू खान को कांग्रेस में शामिल कर लिया गया। उन्हें कांग्रेस की सदस्यता देने के साथ ही तुरंत शहर महामंत्री का पद भी मिल गया।

इंदौर से लेकर भोपाल तक शिकायत

इंदौर से लेकर भोपाल तक सभी बड़े कांग्रेस नेताओं को इनके खिलाफ शिकायत हुई है। इसके चलते एक ही दिन में कांग्रेस की पूरी राजनीति गरमा गई है। कांग्रेस के पूर्व विधायक अश्विन जोशी ने खुले तौर पर विरोध किया है। इसके पहले जफर के खिलाफ खुद प्रदेश कांग्रेस सचिव विवेक खंडेलवाल और कांग्रेस प्रवक्ता गिरीश जोशी भी प्रशासन को शिकायत कर चुके हैं।

जिसने की शिकायत उसी ने पार्टी में शामिल कराया

शहर कांग्रेस प्रवक्ता मंजूर बेग ने 21 जुलाई 2018 को मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान को जफर खान के खिलाफ एक चिट्ठी लिखी थी। इसमें उन्होंने शिकायत की थी कि सिरपुर में न्यू लक्ष्मीनगर और न्यू लक्ष्मीनगर सेक्टर बी अवैध कॉलोनी काटी जा रही है। इन दोनों अवैध कॉलोनियों के नाम पर उन्होंने जनता के साथ धोखाधड़ी करने का आरोप भी लगाया था। उन्होंने आरोप लगाया था कि किसानों से 2017 में ये जमीन खरीदी गई थी। लेकिन 2010 के फर्जी स्टाम्प पर जफर पिता मोहम्मद हनीफ के द्वारा अवैध कॉलोनी की नोटरी की जा रही है। वहीं शुक्रवार को खुद मंजूर बेग ही जफर खान को कांग्रेस कार्यालय गांधी भवन लेकर पहुंचे थे।

-बीमारी के कारण में कहीं आता जाता नहीं हूं। मुझ पर वरिष्ठ नेता नियुक्तियों के लिए दबाव बनाते हैं। ऐसे ही दबाव में ये नियुक्ति मुझसे करवाई गई है। मैं सभी तथ्यों और सबूतों को इकट्ठा कर रहा हूं। उसके हिसाब से ही आगे कार्रवाई की जाएगी।
प्रमोद टंडन, शहर कांग्रेस अध्यक्ष

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned