दोस्त के साथ रात में खड़ी थी युवती, पुलिस आई और दोनो के साथ किया ऐसा बर्ताव

दोस्त के साथ रात में खड़ी थी युवती, पुलिस आई और दोनो के साथ किया ऐसा बर्ताव

Krishnapal Singh Chauhan | Publish: Dec, 06 2018 10:46:40 AM (IST) | Updated: Dec, 06 2018 10:46:41 AM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

‘निर्भया’ ने बढ़ाया भय, दोस्त के साथ खड़ी छात्रा से मांगे रुपए

 

इंदौर. महिलाओं की सुरक्षा के लिए बनाई गई निर्भया ही अब डराने लगी है। मंगलवार रात निर्भया में सवार दो पुलिसकर्मियों ने अवैध वसूली के लिए दोस्त के साथ खड़ी छात्रा को डराया-धमकाया। मारपीट की। छात्रा ने जब पिता से बात कराई तो उनसे भी अभद्रता से बाज नहीं आए। छात्रा की शिकायत के बाद दोनों को निलंबित कर दिया गया है।
मंगलवार रात सवा 9 बजे यूनिवर्सिटी की छात्रा आईटी पार्क के समीप दोस्त से बात कर रही थी। तभी वहां निर्भया पीसीआर पहुंची। उसमें सवार महिला पुलिसकर्मी ने छात्रा व उसके साथी से पूछताछ की। आरोप है कि नाम व पता बताने के बाद पुलिसकर्मियों ने उनसे दुव्र्यवहार किया। महिला पुलिसकर्मी ने मामला रफा-दफा करने के लिए 100 रुपए भी मांग लिए। छात्रा ने पैसे नहीं देने की बात कही तो महिला पुलिसकर्मी ने छात्रा से उसके पिता से बात कराने को कहा और पिता से भी बदसलूकी की। उन्हें अपशब्द कहे। इस दौरान उसके साथी को पुलिसकर्मी ने पीटा भी। छात्रा ने महिला थाने में शिकायत की। छात्रा का कहना है पुलिसकर्मी की इस हरकत से पिता, दोस्त, वह मानसिक रूप से प्रताडि़त हुई। छात्रा ने बुधवार को शिकायती आवेदन महिला थाने दिया, जिसमें उन्होंने पीसीआर पर पदस्थ महिला पुलिसकर्मी का नाम उजागर करने के साथ ही उनके विरुद्ध कार्रवाई की मांग की।

पिता ने बताई आपबीती
रात को करीब 9 बजे बेटी ने मुझे फोन किया। भंवरकुआं थाने से पुलिसकर्मी महिला पुलिसकर्मी और ड्राइवर ने बेटी के दोस्त को थप्पड़ मारा। बेटी ने फोन पर बोला की पापा पुलिस वाले पूछ रहे है कि मेरे से साथ कौन युवक है। फिर मेरी बात बेटी ने महिला पुलिसकर्मी से करवाई। मैंने उन्हें बताया कि मेरी बेटी जिस युवक के साथ खड़ी है, मैं उसे अच्छे से जानता हूं। वह उसका बहुत अच्छा दोस्त है। बेटी पढ़ाई के संबंध में नोट्स लेने उसके पास आई थी। इतने में पुलिसकर्मी ने मुझे कहा कि बेटी को कैसी छूट दे रखी है। महिला पुलिसकर्मी का बात करने का लहजा अच्छा नहीं लगा। बेटी के दोस्त थप्पड़ मारने व उन्हें कार्रवाई के नाम पर ब्लैकमेल कर रुपए मांगने की बात से मैं आहत हूं। रातभर सोचता रहा कि मेरी बेटी किस तरह से इंदौर में सुरक्षित है। इस घटना से मेरी मानसिकता को ठेस पहुंची है। मुझे मेरी बेटी पर पूरा विश्वास है, वह कई वर्ष से इंदौर में रह रही है। जिन पुलिसकर्मियों ने कार्रवाई के नाम पर बेटी व उसके दोस्त को परेशान किया, उन पर अधिकारी सख्त कार्रवाई करें।

बाद में पुलिसकर्मियों ने मांगी माफी
बताया जा रहा है कि थाने में महिला पीसीआर की शिकायत पहुंचते ही घटना के वक्त ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों तक यह बात पहुंच गई। बात वरिष्ठ अधिकारियों तक न पहुंचे, इसलिए महिला पुलिसकर्मी ने छात्रा से माफी मांगते हुए शिकायत वापस लेने को कहा।

ऐसी घटना न हो, इसलिए आगे आई
युवती का कहना है कि आगे ऐसी घटना किसी महिला या युवती के साथ न घटे, इसलिए मैंने आगे आकर अपनी शिकायत दर्ज कराई है। युवती का कहना है कि रात ९ बजे के आसपास जब पुलिस की खुलेआम गुंडागर्दी चल रही है तो देर रात वह शहरवासियों के साथ क्या करती होगी?

किया निलंबित
छात्रा की शिकायत पर निर्भया पीसीआर की आरक्षक सविता जैन और आरक्षक जितेंद्र को निलंबित कर दिया है। मामले की जांच सीएसपी संयोगितागंज ज्योति उमठ सौंपी है।
- यूसुफ कुरैशी, एसपी मुख्यालय

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned