पोस्टमॉर्टम के लिए अस्पताल आई बॉडी देखकर चौंक गए डॉक्टर, जानें क्या है मामला

पोस्टमॉर्टम के लिए अस्पताल आई बॉडी देखकर चौंक गए डॉक्टर, जानें क्या है मामला

Reena Sharma | Updated: 14 Jul 2019, 12:12:03 PM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

पुलिस पंचनामे में जानकारी न होने की वजह से रोक दिया पीएम, परिजनों ने किया हंगामा

इंदौर. अंगदान के प्रति लोगों का विश्वास दिन ब दिन बढ़ता जा रहा है ऐसे में हादसा किसी भी तरह का हो लोग अंगदान व नेत्रदान को लेकर हमेशा आगे रहते हैं। हालांकि इसके अपने कुछ नियम होते है जिन्हें भी निभाना जरूरी होता है लेकिन अब भी कई लोगों की इसकी जानकारी नहीं है जिसके चलते कुछ गलतियां भी हो जाती है। ऐसे केस में पुलिस की भी अपनी कुछ भूमिका होती है जिसे पूरा किया जाना भी जरूरी है। कुछ ऐसे चूक सामने आई है।

must read : इंदौर की पहली महिला लोको पायलट अब दौड़ाएंगी ट्रेन, पांच साल के धैर्य का ऐसा मिला इनाम

भोलेनाथ कॉलोनी में रहने वाले 17 वर्षीय अनुराग पिता अशोक ने शुक्रवार को फांसी लगाकर आत्महत्या की थी। शनिवार को पोस्टमॉर्टम के लिए बॉडी जिला अस्पताल आई तो उसे देख डॉक्टर चौंक गए। बॉडी की आंखें नहीं थीं। पुलिस पंचनामे में इसकी जानकारी नहीं होने पर पीएम रोक दिया गया। पुलिस ने पहुंचकर पीएम कराया। परिजन ने मुस्कान ग्रुप से संपर्क करते हुए शुक्रवार रात को नेत्रदान करवा दिया था। नियमानुसार कोई भी अंगदान दिए जाने पर पुलिस के पंचनामे में जिक्र होना चाहिए। डॉक्टरों ने पोस्टमार्टम बीच में रोका तो अस्पताल में परिजन ने हंगामा कर दिया। सिविल सर्जन डॉ. एमपी शर्मा ने बताया, मुस्कान ग्रुप से संपर्क कर आंखें दान कराई गई थी, लेकिन पंचनामे में इसकी जानकारी नहीं देने से असमंजस की स्थिति बनी। बाद में मुस्कान ग्रुप से भी संपर्क किया गया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned