scriptThe New Council Will Get A New Building In The Municipal Corporation | Indore News : नगर निगम में नई परिषद को मिलेगी नई बिल्डिंग | Patrika News

Indore News : नगर निगम में नई परिषद को मिलेगी नई बिल्डिंग

- मुख्यालय में लंबे समय से अधूरे पड़े भवन का निर्माण कार्य फिर से शुरू
- चढ़ाव, लिफ्ट, फिनिशिंग और इंटीरियर का काम छह माह में करने का टारगेट

इंदौर

Published: July 12, 2022 11:04:02 am

इंदौर. नगर निगम में किसकी परिषद बनेगी और कौन महापौर होगा, इसका फैसला 17 जुलाई को हो जाएगा। निगम में आने वाली नई परिषद को नई बिल्डिंग भी मिल जाएगी। इसके लिए 6 माह इंतजार करना पड़ेगा। निगम मुख्यालय में लंबे समय से अधूरे पड़े नए भवन का फिर से निर्माण कार्य शुरू करके पूरा करने की मियाद छह माह रखी गई है। इस समय सीमा में चढ़ाव, लिफ्ट, फिनिशिंग और इंटीरियर का काम किया जाएगा।
Indore News : नगर निगम में नई परिषद को मिलेगी नई बिल्डिंग
Indore News : नगर निगम में नई परिषद को मिलेगी नई बिल्डिंग
निगम मुख्यालय में नए परिषद भवन का निर्माण कार्य 27 अक्टूबर 2014 में शुरू किया गया। इसका श्रीगणेश पूर्व महापौर कृष्णमुरारी मोघे ने किया था। नए भवन को बनाने की मियाद 2 वर्ष रखी गई। इसके हिसाब से 27 अक्टूबर 2016 को ही काम पूरा हो जाना था। करीब आठ वर्ष गुजरने के बावजूद नया परिषद भवन तैयार नहीं हुआ। मोघे के बाद महापौर मालिनी गौड़ का भी कार्यकाल 19 फरवरी 2020 को खत्म हो गया। गौड़ के कार्यकाल में नए भवन के निर्माण कार्य को समय रहते पूरा कराने का प्रयास पूर्व सभापति अजय सिंह नरूका, पूर्व एमआईसी मेंबर सुधीर देडग़े, दिलीप शर्मा और पूर्व नेता प्रतिपक्ष फौजिया शेख अलीम ने किया था। इनके प्रयास असफल रहे। गौड़ भी अपने कार्यकाल में इसका निर्माण पूरा नहीं करवा पाईं। वैसे नरूका ने जाते-जाते नई बिल्डिंग में अपना ऑफिस जरूर खोल लिया था और बैठने लगे थे।
इधर, भाजपा परिषद और महापौर का कार्यकाल खत्म होते ही संभागायुक्त डॉ. पवन शर्मा को प्रशासक बनाकर निगम की कमान सौंप दी गई। इन्होंने नए परिषद भवन के लंबे समय से अधूरे पड़े काम को शुरू करवाने के प्रयास किए, मगर काम शुरू नहीं करवा पाए। नगरीय निकाय चुनाव के ढीले होने पर निगम में महापौर और परिषद नहीं बन पाई। इस कारण ढाई वर्ष तक नई बिल्डिंग का काम बंद ही पड़ा रहा। हाल ही में हुए नगरीय निकाय चुनाव के चलते 6 जुलाई को मतदान हुआ, इनकी गिनती 17 जुलाई को होना है। इसके बाद निगम को नई परिषद और नया महापौर मिल जाएगा। यह देखते हुए निगम योजना शाखा के अफसरों ने परिषद भवन के अधूरे पड़े कामों को पूरा करने की सुध ली है। निर्माण कार्य फिर शुरू हो गया है। चढ़ाव व लिफ्ट के काम को पूरा करने के साथ फिनिशिंग की जा रही है। इसके बाद इंटीरियर यानी साज-सज्जा का काम होगा। इन सब कामों को पूरा करने का टारगेट छह माह रखा है। इस तय समय में निगम अफसरों ने काम पूरा कर लिया, तो नए महापौर, सभापति, एमआईसी मेंबर, नेता प्रतिपक्ष और पार्षद को बैठने की जगह मिल जाएगी। साथ ही निगम परिषद हॉल में बैठक होने से खर्च भी बच जाएगा।
दिखने लगी जर्जर

निगम शहर में लाखों-करोड़ों रुपए के विकास कार्य करता है। मुख्यालय परिसर में बन रही नई बिल्डिंग का काम समय रहते पूरा नहीं कर पाया। नतीजतन दो वर्ष के काम में आठ वर्ष लगने पर बिल्डिंग बनने से पहले ही पुरानी व जर्जर दिखने लगी। बिल्डिंग का निर्माण कार्य कछुआ चाल चला, वहीं जिम्मेदार अफसरों की लेटलतीफी भारी पड़ गई।
Indore News : नगर निगम में नई परिषद को मिलेगी नई बिल्डिंगहोटलों में आयोजन पर उड़ाए पैसे

परिषद भवन का निर्माण कार्य पूर्ण नहीं होने पर मालिनी गौड़ के कार्यकाल में ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर और श्रीमाया होटल में निगम परिषद सम्मेलन आयोजित होते थे। बजट भी इन्हीं जगहों पर पेश होने के साथ बहस यहीं होती थी। एक दिन का खर्च 15 से 20 लाख रुपए होता था। ऐसे में पिछली परिषद के 5 वर्षों में होटलों में लगभग 4 करोड़ रुपए खर्च कर दिए गए। इतने पैसों में तो परिषद भवन का काम पूरा हो जाता। इसको लेकर पूर्व नेता प्रतिपक्ष फौजिया अलीम ने हाईकोर्ट में याचिका भी दायर कर रखी है।
अफसर रोते रहे पैसों का रोना

मुख्यालय में लंबे समय से बन रहे परिषद भवन का काम तय समय में पूरा न करने की वजह पैसा था, जबकि मोघे ने नई बिल्डिंग की लागत 11.50 करोड़ रुपए की बैंक में एफडी करवा दी थी। उन्होंने इसके साथ ही गांधी हॉल के जीर्णोद्धार के काम को लेकर भी एफडी करवाई थी। इन एफडी को मालिनी गौड़ के कार्यकाल में तोडक़र दूसरे कामों में लगा दिया गया। नतीजतन मुख्यालय में नए भवन का काम अटक गया। जिम्मेदार अफसर पैसा न होने का रोना रोते रहे। पैसों के अभाव में गांधी हॉल का काम निगम स्तर पर पूरा न होने पर स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में शामिल करना पड़ा, तब जाकर गांधी हॉल का जीर्णोद्धार हुआ। हालांकि मुख्यालय के नए भवन पर निगम अभी तक करीब 8 करोड़ रुपए खर्च कर चुका है। अब दो से ढाई करोड़ रुपए के काम बाकी हैं, जिन्हें पूरा करने में निगम लगा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Himachal Pradesh News: रामपुर के रनपु गांव में लैंडस्लाइड से एक महिला की मौत, 4 घायलMaharashtra Politics: चंद्रशेखर बावनकुले बने महाराष्ट्र बीजेपी के अध्यक्ष, आशीष शेलार को मिली मुंबई की कमानममता बनर्जी को बड़ा झटका, TMC के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पवन वर्मा ने पार्टी से दिया इस्तीफामाकपा विधायक ने दिया विवादित बयान, जम्मू-कश्मीर को बताया 'भारत अधिकृत जम्मू-कश्मीर'गुजरात चुनाव से पहले कांग्रेस का बड़ा ऐलान, सरकार बनी तो किसानों का तीन लाख तक का कर्ज होगा माफBJP का महागठबंधन पर बड़ा हमला, सांबित पात्रा बोले- नीतीश-तेजस्वी के साथ आते ही बिहार में जंगलराज शुरूबिहार कैबिनेट पर दिल्ली में मंथन, आज शाम सोनिया गांधी से मिलेंगे तेजस्वी यादव, 2024 के PM कैंडिडेट पर बोले नीतीश कुमारCoronavirus News Live Updates in India : राजस्थान में एक्टिव मरीज 4 हजार के पार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.