बड़ी लापरवाही : ट्रेन में था करंट फैलने का डर

बड़ी लापरवाही : ट्रेन में था करंट फैलने का डर

Sanjay Rajak | Publish: Jul, 14 2019 10:52:07 AM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

प्लेटफॉर्म पर खड़ी ट्रेन के नीचे से डाली दी बिजली की लाइन

इंदौर. न्यूज टुडे. इंदौर रेलवे स्टेशन पर शनिवार दोपहर एक ठेकेदार की लापरवाही से बड़ा हादसा होते-होते बच गया। प्लेटफॉर्म-१ पर टाइल्स की फिनिशिंग का काम किया जा रहा था। मशीन चलाने के लिए ठेकेदार ने बिजली कनेक्शन के लिए प्लेटफॉर्म पर खड़ी ट्रेन के नीचे से दूसरी तरफ तक केबल बिछा रखी थी। इतना ही नहीं यहां जिस स्विच बोर्ड से ट्रेन कोच की कुलिंग के लिए चार्ज किया जाता है, उसी से प्लेटफॉर्म पर मशीन चलाई जा रही थी।

डीआरएम आरएन सुनकर का शनिवार शाम को इंदौर रेलवे स्टेशन का निरीक्षण होना था। इसलिए पेंडिंग काम निपटाए जा रहे थे। प्लेटफॉर्म-१ पर पार्सल कार्यालय के पास कोटा स्टोन लगाया गया है, जिसकी फिनिशिंग एक माह पहले ही की जाना थी, लेकिन ठेकेदार ने काम नहीं किया। शनिवार को डीआरएम के आने की जानकारी मिली तो ताबड़तोड़ ठेकेदार ने यहां एक कर्मचारी को फिनिशिंग मशीन के साथ भेजा। नियमानुसार इस तरह के काम के लिए कंपनी को अलग से बिजली का मीटर लगाना होता है ताकि रेलवे बिजली शुल्क वसूल कर सके, लेकिन यहां मौजूद कर्मचारी खुद के साथ पूरी ट्रेन की सुरक्षा दांव पर लगा दी। डीआरएम के आने से काम पूरा-दरअसल कल शाम को डीआरएम सुनकर ने स्टेशन का दौरा शुरू किया। इसीलिए ठेकेदार ने अपना काम ताबड़तोड़ दिन में ही पूरा कर लिया।

 

rail

नीचे 440 वोल्ट का करंट, ऊपर ट्रेन
प्लेटफॉर्म-१ पर खजुराहो-इंदौर ट्रेन का एसटीआर किया जा रहा था। इसी दौरान ठेकेदार के कर्मचारी ने मशीन चलाने के लिए एक केबल ट्रेन के नीचे से दूसरी तरफ निकाल दी। यहां हाईड्रेंट पोल के नीचे ट्रेन के एसी कोच की कुलिंग चार्ज करने के लिए 440 वोल्ट का स्विच बोर्ड लगा है। इसी स्विच से उसने मशीन चलाना शुरू कर दिया। जिस समय यह काम चल रहा था, ट्रेन में दर्जनभर सफाई कर्मचारी काम कर रहे थे। अगर ट्रेन का मूवमेंट होता या फिर अन्य तरह वायर कट हो जाता तो पूरी ट्रेन में करंट फेल जाता। इसके साथ मशीन पर काम कर रहे कर्मचारी की जान पर भी बन आती। प्लेटफॉर्म से ट्रेन तक बिछाई गई इस केबल को अफसरों से छुपाने के लिए गीली बोरियों से ढंक दिया गया था।

rail

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned