गांव से शहर में आ गए...पर नहीं मिलेगा पानी

अमृत प्रोजेक्ट में 21 गांव अभी भी नर्मदा के पानी से वंचित ही रहेंगे, अभी आठ गांवों में पाइप लाइन बिछाने का काम हुआ शुरू, दो साल में पूरा होगा काम

By: Uttam Rathore

Published: 16 May 2018, 10:50 AM IST

उत्तम राठौर
इंदौर. शहर की कई कॉलोनी-मोहल्ले ऐसे हंै, जहां नर्मदा पाइप लाइन नहीं पहुंची है। लोगों की जलापूर्ति बोरवेल या फिर नगर निगम के टैंकर के जरिए होती है। जिन जगहों पर नर्मदा का पानी नहीं पहुंचता, वहां पर नर्मदा की टंकी का निर्माण करने के साथ सप्लाय लाइन डालने की कवायद में निगम लगा है। यह काम अमृत प्रोजेक्ट के तहत किया जा रहा है। इससे शहर के अधिकतर इलाकों को फायदा होगा, लेकिन निगम सीमा में शामिल हुए 29 गांवों में से बहुत कम गांवों को नर्मदा का पानी मिलेगा।
नर्मदा प्रोजेक्ट के अफसरों की मानें तो अमृत प्रोजेक्ट के तहत अभी जो साढ़े 11 सौ किलोमीटर तक लाइन डालने का काम किया जा रहा है, उससे 29 में से महज आठ गांव को ही फायदा मिलेगा। बाकी बचे 21 गांवों को बाद में पानी मिलेगा। इसको लेकर योजना बना रखी है, जिस पर धीरे-धीरे काम होगा। लोगों के घरों तक नर्मदा का पानी पहुंचाने के लिए सप्लाय के साथ टंकी भरने की लाइन डाली जा रही है। यह काम 2019 में पूरा करने का टारगेट रखा गया है।
मालूम हो कि निगम सीमा में 29 गांव शामिल हुए तकरीबन चार साल होने को आए हैं, लेकिन गांव से वार्ड में तब्दील होने के बावजूद लोग आज भी वे मूलभूत सुविधाओं को तरस रहे हैं। इसमें से एक मुख्य सुविधा है पानी।
यहां चल रहा काम
नर्मदा की सप्लाय पाइप लाइन डालने का काम लसूडिय़ा मोरी, निपानिया, खंडवा रोड, राजेंद्र नगर के पास रेत मंडी, मित्र-बंधु नगर, भूरी टेकरी और स्कीम-71 आदि क्षेत्र शामिल हैं।
250 किमी जर्जर लाइन बदलेंगे
अमृत प्रोजेक्ट के तहत साढ़े 11 सौ किलोमीटर तक पाइप लाइन बिछाई जा रही है। इसके साथ ही टंकी का निर्माण अलग हो रहा है। लोगों के घर नल तक नई सप्लाय और टंकी भरने के लिए पाइप लाइन बिछाई जा रही है। साढ़े 11 सौ में से 250 किलो मीटर तक शहर में नर्मदा की वह पाइप लाइन बदली जाएगी, जो कि पूरी तरह जर्जर हो गई है। आए दिन लीकेज होने के साथ लाइन फूटती रहती है और पानी बहता रहता है, इसलिए नई पाइप लाइन बिछाने के साथ जर्जर को बदलने की प्लानिंग भी की गई है।
खर्च होंगे 560 करोड़ रुपए
निगम ने टंकी बनाने का ठेका रामकी और सप्लाय लाइन डालने का ठेका एलएंडटी कंपनी को दिया है। टंकी निर्माण के साथ सप्लाय और टंकी भरने के लिए लाइन डालने का यह ठेका निगम ने 560 करोड़ रुपए में दिया है। मालूम हो कि एडीबी के तहत नर्मदा की लाइन बिछाने का ठेका रामकी को दिया था, जिसके कामकाज को लेकर कई बार सवाल उठे।
बाकी में जल्द ही पानी की व्यवस्था
पाइप लाइन बिछाने का काम शुरू हो गया है। इसमें सप्लाय व टंकी भरने की लाइन डाल रहे हैं। अभी आठ गांव कवर होंगे।। बाकी गांवों में भी जल्द ही पानी की व्यवस्था की जाएगी। इसको लेकर प्लानिंग हो गई है।
बलराम वर्मा, प्रभारी, जलकार्य समिति

 

Uttam Rathore Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned