डॉ के घर में खिडक़ी की जाली उखाड़ कर घुसा चोर, केस व जेवरात सहित ८ लाख उड़ाए

डॉ के घर में खिडक़ी की जाली उखाड़ कर घुसा चोर, केस व जेवरात सहित ८ लाख उड़ाए

Krishnapal Singh Chauhan | Publish: Sep, 24 2018 04:02:03 AM (IST) Indore, Madhya Pradesh, India

भंवरकुआ थाना क्षेत्र का मामला, सुबह ७ बजे रिटायर्ड ऑफिसर ने बेटा-बहु को उठा कर चोरी की सूचना दी, बेडरूम की अलमारी से गया केस और जेवरात

 

इंद्रपुरी में रहने वाले डॉक्टर के घर में शनिवार देररात बदमाश ने उस वक्त सेंध लगा दी जब डॉक्टर और उनके परिवार के सदस्य गहरी नींद में थे। सुबह उनके बुजुर्ग पिता नींद से जागे तब घटना का पता चला। घर में सामान अस्त व्यस्त पड़ा मिला। चोरी करने आए बदमाश खिडक़ी की जाली उखाडक़र अंदर घुसे। घटना के बाद से ही परिवार हैरान है की उनकी मौजूदगी में बदमाश घर से ८ लाख का माल उड़ा ले गया और उन्हें भनक तक नहीं लगी। पुलिस ने घर के पास लगे सीसीटीवी कैमरा फुटेज को जांच में शामिल किया है।

टीआई संजय शुक्ला के मुताबिक फरियादी डॉ राजेश गुप्ता की शिकायत पर रविवार को अज्ञात चोर के खिलाफ केस दर्ज किया है। घटना रात ढ़ाई से साढ़े तीन बजे के बीच होने की बात सामने आई है। रोज की तरह डॉ, उनकी पत्नी सुजाता और उनके ८२ वर्षीय पिता अपने बेडरूम में सोने चले गए। चोर दबे पैर उनके घर में घुसे और गलियारे से होते हुए मंदिर के समीप वाली खिडक़ी के पास पहुंच गया। घटनास्थल देख कर लग रहा है की खिडक़ी की जाली तोडऩे के लिए बदमाश ने लोहे की टामी और अन्य औजार का उपयोग किया है। चोर इतना शातिर है की वह घर के अंदर घुसने के बाद नींद में सो रहे फरियाद के पिता के रूम में गया। यहां कॉफी तलाश के बाद उसे कुछ नहीं मिला। संभवत: इसके बाद वह उस रूम में भी गया जहां डॉ और उनकी पत्नी सो रहे थे। यहां स्थित लकड़ी की अलमारी खुली मिली। लॉकर व अन्य जगहों पर रखे करीब साढ़े तीन लाख केस और सोने की चूडि़या, चेन व टॉप्स सहित करीब ८ लाख का माल चोरी होने की बात सामने आई है। फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट से घटनास्थल की जांच करवाई है।

पिता को कम सुनाई देता है, स्प्रे की बात से किया इंकार

टीआई शुक्ला को डॉ ने जानकारी दी है उनके पिता एग्रीकल्चर विभाग से डिप्टी डायरेक्टर पद से रिटायर्ड अफसर है। उम्र अधिक होने पर उन्हें कम सुनाई देता है। जब चोर उनके कमरे में आए होंगे तो उन्हें इसका पता नहीं चला। इसी तरह वे भी पत्नी के साथ गहरी नींद में थे। अलमारी के खुले होने पर कुछ ही देर में चोर केस व ज्वेलरी लेकर भागा होगा। उन्होंने चोर द्वारा बेहोशी का स्प्रे छिडक़ने के बाद से इंकार किया है। उनका कहना है की एेसा कोई स्प्रे शायद ही आता होगा जिससे किसी व्यक्ति को पलभर में बेहोश किया जा सके। यदि एेसा होता तो उन्हें इस बात का अहसास होता। डॉ ने बताया की उनका निजी हॉस्पिटल में लैब है जिसमें रोज करीब १० हजार का केस आता है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned