scriptThere is no clarity on GST yet, the basic feeling is getting lost | जीएसटी को लेकर अब तक स्पष्टता नहीं, खत्म हो रही मूल भावना | Patrika News

जीएसटी को लेकर अब तक स्पष्टता नहीं, खत्म हो रही मूल भावना

जीएसटी इनपुट टैक्स क्रेडिट की व्यवहारिक समस्याओं पर टीपीए का ग्रुप डिस्कशन

इंदौर

Updated: May 27, 2022 07:14:32 pm

इंदौर.
जीएसटी लागू किए भले ही पांच साल हो चुके है लेकिन, अब भी विभाग, कारोबारी और कर सलाहकारों में इसके नियमों को लेकर असमंजस की स्थिति है। सबसे ज्यादा समस्या आईटीसी को लेकर आ रही है। एक की गलती पर सामान खरीदने वाले कारोबारियों का भी आईटीसी रोका जा रहा है।
जीएसटी इनपुट टैक्स क्रेडिट की तमाम व्यवहारिक समस्याओं पर चर्चा के लिए टैक्स प्रैक्टिसनर्स एसोसिएशन द्वारा शुक्रवार को ग्रुप डिस्कशन रखी गई। इसमें महत्वपूर्ण प्रावधानों पर केस स्टडी बनाकर सभी विषयों पर प्रतिभागियों को भी मत रखने का मौका दिया गया। ग्रुप में सामूहिक विचार विमर्श कर उन सभी पर अंतिम रूप से निर्णय लेकर उसे सभी सदस्यों के समक्ष समक्ष रखा गया। सभी का कहना था कि आईटीसी जीएसटी कानून की आत्मा है तथा विभाग द्वारा वर्तमान में इसे लेकर जो रवैया अपनाया जा रहा है उससे इसकी मूल भावना समाप्त होती दिख रही है। कई मुद्दे ऐसे हैं जिसमें अभी तक स्पष्टता नहीं है। उदाहरण के लिए अगर किसी व्यापारी ने कोई माल ऐसे गोडाउन में रखा है जिसका विवरण रजिस्ट्रेशन में नहीं है उसकी इनपुट टैक्स क्रेडिट मिलेगी या नहीं इस पर विशेषज्ञों ने चर्चा कर यह निष्कर्ष निकाला कि आईटीसी की एलिजीबीलिटी रजिस्टर्ड करदाता को होती है न कि रजिस्टर्ड व्यापार स्थल की। इसलिए क्रेडिट मिलना चाहिए।

जीएसटी को लेकर अब तक स्पष्टता नहीं, खत्म हो रही मूल भावना
जीएसटी को लेकर अब तक स्पष्टता नहीं, खत्म हो रही मूल भावना
नियम विरुद्ध है आईटीसी पर रोक
जीडी में चर्चा कि गई कि विभाग फर्जी बिलों के विरुद्ध डीलर की आईटीसी ब्लॉक कर रहे है जो कि सही है लेकिन उस डीलर के द्वारा आगे बेचे गए माल की जो कि असल बिक्री है उसकी भी आईटीसी ब्लॉक की जा रही है जो कि नियम विरुद्ध है। किसी सप्लायर द्वारा जीएसटीआर 1 रिटर्न फाइल नहीं करने पर, रिटर्न में बिल नहीं दर्शाने पर या कर का भुगतान नहीं भरने माल प्राप्तकर्ता को दोषी माना जा रहा है जबकि कार्यवाही माल बेचने वाले पर करनी चाहिए।
कार्यक्रम में टीपीए प्रेसीडेंट सीए शैलेंद्र सिंह सोलंकी, इंदौर सीए शाखा के चेयरमैन सीए आनंद जैन, टीपीए के मानद सचिव सीए अभय शर्मा, रजत धानुका, सुनील खंडेलवाल, नवीन खंडेलवाल, शैलेंद्र पोरवाल, मनोज गुप्ता, जेपी सर्राफ, कीर्ति जोशी व अन्य सदस्यों ने भाग लिया। संचालन केंद्रीय कर सचिव सीए कृष्ण गर्ग ने किया। आभार सीए रजत धानुका ने माना।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

जम्मू-कश्मीर: अमरनाथ यात्रा के बीच अनंतनाग में आतंकी हमला, आतंकियों ने पुलिसकर्मी को मारी गोलीकोपनहेगन के शॉपिंग मॉल में ताबड़तोड़ फायरिंग, 7 लोगों की मौत, कई घायलसीढ़ियां से उतरने के दौरान गिरे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव, कंधे की हड्डी टूटीदिल्ली और पंजाब में दी जा रही मुफ्त बिजली, गुजरात में क्यों नहीं?: केजरीवालहैदराबाद में बोले PM मोदी- 'तेलंगाना में भी जनता चाहती है डबल इंजन की सरकार, जनता खुद ही बीजेपी के लिए रास्ता बना रही'पीएम मोदी ने लंबे समय तक शासन करने वाली पार्टियों का मजाक उड़ाने के खिलाफ चेताया, कहा - 'मजाक मत उड़ाएं, उनकी गलतियों से सीखें'IND vs ENG: पुजारा के पचासे की बदौलत इंग्लैंड पर बढ़त 257 रनों की, तीसरा दिन रहा भारत के नामRajasthan: वाहन स्क्रैपिंग सेंटर के लिए एक एकड़ जमीन जरूरी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.