आरआर कैट का उपकरण 99.99% कारगर, किया गया इंस्टॉल

इस उपकरण का इस्तेमाल डिसइंफेक्शन और सैनेटाइजेशन के लिए किया जाएगा....

By: Ashtha Awasthi

Published: 09 Jun 2021, 05:58 PM IST

इंदौर। इंदौर एयरपोर्ट पर बीते दिन नीलभस्मी उपकरण इंस्टॉल किया गया। दावा किया जा रहा है कि नीलभस्मी वायरस को खत्म करने में 99.99 फीसदी कारगार है। देवी अहिल्याबाई होलकर इंटरनेशनल एयरपोर्ट से पहले नीलभस्मी को दिल्ली में प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ), साउथ ब्लाक सहित कई और कार्यालयों में लगाया जा चुका है। इस उपकरण का इस्तेमाल डिसइंफेक्शन और सैनेटाइजेशन के लिए किया जाएगा।

वायरस को खत्म कर देती है किरणें

एयरपोर्ट डायरेक्टर आर्यमा सान्याल ने बताया, एक उपकरण में 8 पराबैंगनी लैंप का उपयोग किया गया है। पराबैंगनी किरणें किसी भी सतह पर मौजूद वायरस को खत्म कर देती है। एक वर्गमीटर क्षेत्र एक मिनट में डिसइंफेक्टेड हो जाता है। शाम 6 बजे के बाद फिलहाल फ्लाइट ऑपरेशन नहीं होने के कारण इस समय इसे इस्तेमाल किया जाएगा।


कॉलर बोला- प्लेन हाइजैक कर पाक ले जाउंगा

राजा भोज एयरपोर्ट पर मंगलवार शाम करीब सवा पांच बजे आए प्लेन हाईजैक के कॉल से सनसनी फैल गई। कॉलर ने अपना नाम उज्ज्वल बताते हुए कहा कि एक फ्लाइट भोपाल से और दूसरी इंदौर से हाईजैक करके पाकिस्तान ले जाएंगे। ये कॉल टर्मिनल ड्यूटी ऑफिसर धर्मराज वर्मा ने रिसीव किया था। पता चलते ही गांधी नगर पुलिस, सीआईएसएफ, एटीएस और एसटीएफ जैसी एजेंसी भी आरोपी की तलाश और एयरपोर्ट की सुरक्षा में जुट गई।

सुरक्षा के लिहाज से एयरपोर्ट अथॉरिटी ने ये जानकारी मुंबई एयरपोर्ट से भी साझा की। मुंबई में भी भोपाल आने वाली फ्लाइट के यात्रियों को उतारकर चैक किया गया। यही वजह रही कि मंगलवार रात नौ बजे भोपाल पहुंचने वाली एअर इंडिया की फ्लाइट रात साढ़े 11 बजे भोपाल पहुंची।

Ashtha Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned