टिकट काउंटर बंद, पुलिस भी नहीं रहती मौके पर

टिकट काउंटर बंद, पुलिस भी नहीं रहती मौके पर

Amit S. Mandloi | Publish: Sep, 10 2018 08:04:44 PM (IST) | Updated: Sep, 10 2018 08:09:00 PM (IST) Indore, Madhya Pradesh, India

शहर में रात होते ही सडक़ें और सरकारी व्यवस्थाएं भगवान भरोसे हो जाती हैं।

इंदौर.शहर में रात होते ही सडक़ें और सरकारी व्यवस्थाएं भगवान भरोसे हो जाती हैं। रात में राहगीरों की सुध लेने वाले नींद निकालते रहते हैं दूसरी ओर रात का अंधेरा लोगों के लिए परेशानी का सबब बन जाता है एेसे ही हाल रात के समय गंगवाल बस स्टैंड के हो जाते हंै।
गं गवाल बस स्टैंड पर रात होते ही सरकारी व्यवस्थाएं ध्वस्त हो जाती हंै बात चाहे पुलिस की हो या स्टेशन प्रबंधन की। कर्मचारी कांउटर बंद करके बैठे रहते हैं और इस बात का फायदा उठाकर बस और रिक्शा वाले यात्रियों से मनमाना किराया वसूलते हंै। नशेड़ी बसों के पीछे शराबाखोरी करते रहते हैं लेकिन पुलिस और स्टेशन के जिम्मेदार नदारद रहते हंै।

दो गुना तक लग रहा किराया
गंगवाल बस स्टैंड से उपनगरीय और अंतरराज्यीय बसों का संचालन होता है। करीब १५० बसें यहां से धार, बेटमा, रतलाम, मंदसौर, नीमच, राजस्थान के अजमेर उदयपुर और गुजरात के अहमदाबाद शहरों के बीच चलती हैं। बसों की आवाजाही १ बजे तक रहती है लेकिन १० बजते ही अव्यवस्थाओं से यात्रियों को सामना करना पड़ता है। महिला यात्रियों के लिए भी यहां पर असुरक्षा का माहौल बना रहता है।
एक्सपोज रिपोर्टर यहां पहुंचा तो बस स्टैंड लावारिस नजर आया। पूछताछ काउंटर पर एक कर्मचारी बैठा मिला, लेकिन टिकट काउंटर बंद था। इस कारण बस वाले मनमाना किराया वसूल रहे थे।

 

बस स्टैंड पर बने शौचालय पर ताला लगा मिला। यहां तक की अंदर लाइट की भी पर्याप्त व्यवस्था नहीं मिली। बस स्टैंड में रात को खाने-पीने की दुकानें भी बंद थी। गेट के बाहर फुटपाथ पर एक दुकान सामान को तिरपाल से ढांककर चलाई जा रही थी। ग्राहक के पहुंचने पर दुकानदार रात का वक्तबताकर तय भाव से ज्यादा पैसे वसूलता मिला। कारण पूछने पर पुलिस की सख्ती बताई, आश्चर्य तो इस बात का था कि स्टैंड परिसर में ही पुलिस चौकी है। दुकान पर सिगरेट-पाउच खरीदने वाले लोगों की ही भीड़ थी। ऐसे में कोई महिला यात्री का कोई समान खरीदना मुश्किल ही है। बस स्टैंड के गेट के बाहर प्री पेड ऑटो रिक्शा बुकिंग काउंटर है, लेकिन रात में यह भी बंद मिला। बस से आने वाले यात्रियों को मजबूरी में रिक्शा चालकों को दो गुना तक किराया देना पड़ रहा था। अंदर का माहौल देखते हुए यात्री मेन रोड पर ही बसों का इंतजार करते नजर आए।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned