होलकर कॉलेज में अंधाधुंध पेड़ कटाई के साथ साइकिल रैली की नौटंकी

ये कैसा पर्यावरण संरक्षण, कॉलेज प्रबंधन ने छंटनी के नाम पर कटवा दिए बड़े-बड़े पेड़

By: हुसैन अली

Published: 27 Nov 2019, 03:42 PM IST

इंदौर. होलकर कॉलेज प्रबंधन ने पहले कॉलेज परिसर में लगे विशालकाय पेड़ कटवा दिए। इसके बाद पर्यावरण बचाने का संदेश देने के लिए साइकिल रैली निकाली, जिस पर अब सवाल खड़े हो रहे हैं, हालांकि प्रबंधन पेड़ों की कटाई को छंटाई का नाम दे रहा है, लेकिन जो फोटो सामने हैं, उनसे स्पष्ट हो रहा है कि पेड़ों की कटाई हुई है।

सवा सौ साल पुराने होलकर कॉलेज परिसर में कई पुरानी इमारतों के आसपास घनी हरियाली है। पिछले एक माह से यहां अंधाधुंध पेड़ों की कटाई करवा दी गई। कॉलेज प्रबंधन ने घने पेड़ों को कटवा दिया, जिनके ठूंठ इन दिनों दिख रहे हैं। हालांकि प्रबंधन का कहना है कि हमने छंटाई कराई, लेकिन कई पेड़ बीच से काट दिए गए। उधर इसके उलट दिखावा करने के लिए कॉलेज प्रबंधन ने सोमवार को पर्यावरण बचाने का संदेश देने के लिए साइकिल रैली निकाली। इसमें कॉलेज के प्राचार्य सुरेश सिलावट, प्रशासनिक अधिकारी आरसी दीक्षित सहित अन्य प्रोफेसर साइकिल से कॉलेज आए और साइकिल रैली भी निकाली। कॉलेज के ही कई विद्यार्थियों ने इस पर सवाल खड़े कर दिए।

दरअसल प्राचार्य सिलावट, स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट के भाई हैं, जिसके चलते प्रायार्य बनने के बाद से ही वे कॉलेज में कई बदलाव कर चुके हैं। जिस पर किसी का नियंत्रण नहीं है। कॉलेज सूत्रों का कहना है कि कई पेड़ सिर्फ इसलिए काट दिए गए कि वह कॉलेज परिसर के रास्तों में थे, जहां वाहन भी आते-जाते नहीं थे। ऐसे में इन पेड़ों की न छंटाई की आवश्यकता थी न कटाई की।

हमने सिर्फ छंटाई कराई

हमने तो पेड़ों की छंटाई करवाई थी। कोई पेड़ नहीं काटे हैं। पर्यावरण बचाने के संदेश के लिए रैली निकाली। हम तो पर्यावरण के हित में काम करते हैं।
सुरेश सिलावट, प्राचार्य होलकर कॉलेज

हुसैन अली
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned