पटवारी को 20 हजार, सहकारिता निरीक्षक को 10 हजार की रिश्वत लेते पकड़ा

भ्रष्टाचार को लेकर लोकायुक्त की दो कार्रवाई


इंदौर. लोकायुक्त की टीम ने गुरुवार को भ्रष्टाचार के दो मामलों में कार्रवाई की। एक मामले में जमीन का रिकॉर्ड संसोधित करने के लिए पटवारी एक लाख रुपए मांग रहा था। 51 हजार में सौदा तय होने पर पटवारी ने किसान को पहली किस्त 20 हजार रुपए देने घर के ऑफिस में बुलाया जहां लोकायुक्त ने पकड़ लिलया। दूसरे मामले में वरिष्ठ सहकारिता निरीक्षक सहकारी संस्था के चुनाव कराने के लिए 20 हजार मांग रहे थे। 10 हजार लेने चाय की दुकान पर आए और पैसे लेते ही धरे गए.

एसपी सव्यसांची सराफ के मुताबिक, गुरुवार को दो जगह रिश्वत लेने वालों पर कार्रवाई हुई। एक मामले में अमरसिंह मंडलोई पटवारी हलका नं. 9 सोनवाय, राऊ को उनके आम्रपाली कॉलोनी स्थित निवास से 20 हजार रुपए की रिश्वत लेते डीएसपी प्रवीणसिंह बघेल की टीम ने पकड़ा। डीएसपी बघेल के मुताबिक, जमीन का रकबा संसोधित करने का आवेदन किसान ने पटवारी को दिया था। पटवारी ने एक लाख रुपए की मांग कर दी। बात चीत के बाद सौदा 51 हजार में तय हुआ। पटवारी को आज 20 हजार रुपए देना था, उन्होंने शाम के समय किसान को अपने घर पर बुला लिया। घर पर पटवारी ने ऑफिस बनाया है। वहां पहुंचकर किसान ने 20 हजार रुपए दिए जो पटवारी ने ड्राज में रखे और लोकायुक्त की टीम नेे छापा मारकर पकड़ लिया।
दूसरे मामले में डीएसपी एसएस यादव की टीम ने वरिष्ठ सहकारिता निरीक्षक संतोष जोशी को 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते जेलरोड की चाय की दुकान पर पकड़ लिया। रिश्वत की राशि लेकर जोशी ने बेग में रखी थी, उसे भी जब्त कर लिया। डीएसपी यादव के मुताबिक, भरत जाट की शिकायत पर कार्रवाई हुई है।
संंतोष जोशी शुभ क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी नयापुरा जेल रोड के चुनाव अधिकारी हैै। कुछ समय से संस्था पर प्रशासक नियुक्ति है और चुनाव होना है। संस्था के पूर्व अध्यक्ष निखिल पटेल लगातार संतोष जोशी से संपर्क कर चुनाव कराने की मांग कर रहे थे लेकिन जोशी कोई न कोई कारण बताकर टाल रहे थे। आरोप है कि चुनाव कराने के लिए जोशी ने 20 हजार की मांग की।

प्रमोद मिश्रा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned