नवजात की मौत के मामले में आरोपी जेल गए, मारपीट करने वाले अन्य पर भी होगा केस

नवजात की मौत के मामले में आरोपी जेल गए, मारपीट करने वाले अन्य पर भी होगा केस

Pramod Mishra | Publish: Sep, 06 2018 09:35:22 PM (IST) Indore, Madhya Pradesh, India

चौकीदार की गर्भवती पत्नी से मारपीट का मामला, केस वापस लेने के लिए दे रहे प्रलोभन


इंदौर. चौकीदार व उसकी गर्भवती पत्नी से मारपीट के बाद गर्भस्थ शिशु की मौत मामले में गिरफ्तार दो आरोपियों को पुलिस ने कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया। चौकीदार के साथ मारपीट करने वाले अन्य लोगों पर भी केस दर्ज करने की तैयारी है।
जूनीइंदौर की मल्टी के चौकीदार कामता प्रसाद को गाड़ी में स्क्रेच लगने की बात पर बिल्डिंग में रहने वाले व्यापारी मुकेश वाधवानी व अन्य लोगों ने पीटा था। बीच बचाव के दौरान उसकी गर्भवती पत्नी के पेट में लात मार दी जिसके कारण गर्भस्थ शिशु की मौत हो गई थी। पुलिस ने मामले में पहले साधारण मारपीट का केस दर्ज किया लेकिन जब पीडि़त परिवार ने बच्चे की मौत को लेकर कार्रवाई की मांग की तब धारा 316 बढ़ाकर व्यापारी मुकेश व साथी दीपक को गिरफ्तार कर लिया था। टीआई देवेंद्र कुमार के मुताबिक, दोनों को गुरुवार को कोर्ट में पेश किया गया जहां से जेल भेज दिया गया।
प्रलोभन दे चुप कराने की कोशिश
घटना के बाद चौकीदार व उसकी पत्नी को प्रलोभन देकर चुप कराने की कोशिश की बातें भी सामने आ रही है। बिल्डिंग से जुड़े कुछ लोगों ने चौकीदार से घटना के बाद संपर्क कर मामला रफा दफा कराने का प्रयास किया था। नकद राशि देने की बात हुई जिसे चौकीदार की पत्नी ने यह कहकर टाल दिया कि मेरे बच्चे को जीवित कर दों मैं आपकों गाड़ी गिफ्ट कर दूंगी। हालांंकि मामले में अधिकारिक रूप से पुलिस के पास शिकायत नहीं पहुंची है।
मारपीट करते नजर आए लेकिन केस नहीं
पुलिस को सीसीटीवी फुटैज मिले है जिसमें चौकीदार के साथ मारपीट करने वालों में गिरफ्तार आरोपियों के साथ अन्य लोग भी शामिल है। बताया जा रहा है कि संदेही में एक पुलिस अफसर का रिश्तेदार भी शामिल है जिसके कारण अन्य को बचाने का प्रयास किया जा रहा है। सीएसपी कैलाश मालवीय का कहना है, पुलिस सीसीटीवी फुटैज की जांच कर रही है, किसी अन्य की मारपीट में भूमिका निकलती है तो उन्हें आरोपी बनाया जाएगा।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned