यूनिवर्सिटी देगी मौका, मिलेगा पांच लाख का पैकेज

एक बायोडाटा से छह कंपनियों में मौका, औसत पांच लाख के पैकेज से हुई शुरुआत, जनवरी तक सभी विभागों में होंगे प्लेसमेंट

 

By: amit mandloi

Published: 12 Nov 2017, 08:44 PM IST

इंदौर.

यूटीडी में पढऩे वालों को पसंदीदा सेक्टर में नौकरी का मौका दिलाने के लिए यूनिवर्सिटी नया प्रयोग करने जा रही है। एक-एक कंपनी को बुलाने की जगह उन कंपनियों को एक साथ बुलाया जाएगा जो एक ही तरह की प्रोफाइल चाहती हैं। जिम्मेदारों के अनुसार एक ही दिन में छह से आठ कंपनियां बुलाई जा सकती हैं।


यूनिवर्सिटी में कंपनियों की आमद शुरू हो गई है। अब तक प्लेसमेंट के लिए आई कंपनियों ने औसत साढ़े पांच लाख रुपए का पैकेज ऑफर किया है। इससे उम्मीद जताई जा रही है, अगले दो महीने में प्लेसमेंट के साथ-साथ पैकेज में भी इजाफा होगा। यूनिवर्सिटी में पिछले साल तक विभाग स्तर पर ही प्लेसमेंट की कोशिशें की जाती रही हैं। आईएमएस, आईआईपीएस, आईईटी और स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स को छोड़ दिया जाए तो बाकी विभागों में मुश्किल से २० फीसदी छात्रों को भी सफलता नहीं मिलती थी। कुलपति प्रो. नरेंद्र धाकड़ ने प्लेसमेंट का आंकड़ा बढ़ाने के लिए सेंट्रल प्लेसमेंट सेल बनवाई, जिसमें छात्रों को बायोडाटा तैयार करने के साथ ही इंटरव्यू की तैयारी भी कराई जाती है। पिछले सत्र में यूनिवर्सिटी ऑडिटोरियम में सेंट्रल प्लेसमेंट सेल ने कई कंपनियों को बुलाया, जिन्होंने सभी विभागों के विद्यार्थियों की काबिलियत परखते हुए हाथोहाथ जॉब ऑफर किए। एक ही दिन की प्रक्रिया में ज्यादा कंपनियां होने से विद्यार्थी कुछ ही कंपनियों में किस्मत आजमा पाए थे। यूनिवर्सिटी ने फैसला लिया है, अब कंपनियों की जरूरतें समझकर उन्हें एक साथ प्लेसमेंट के लिए बुलाया जाए। फाइनेंस, मार्केटिंग, एचआर, फॉरेन ट्रेड व एक्सपोर्ट-इंपोर्ट सेगमेंट के लिए एक बार ज्यादा कंपनियां बुलाने से छात्रों को भी सहूलियत होगी।

सेंट्रल प्लेसमेंट सेल के प्रो. निशिकांत वायकर ने बताया, विभाग स्तर पर प्लेसमेंट शुरू हो चुके हैं। ओपन प्लेसमेंट में कंपनियों का ग्रुप बनाकर प्लेसमेंट कराने की कोशिश है। ज्यादा छात्र होने से कंपनियां अपनी जरूरत के अनुरूप बेहतर छात्र को चुनेंगी, वहीं छात्रों को भी प्लेसमेंट के ज्यादा मौके मिल सकेंगे।

 

amit mandloi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned