scripturban developers can play role in master plan indore 2035 | इंदौर के विकास में अर्बन प्लानर्स का हो साथ तो बने बात | Patrika News

इंदौर के विकास में अर्बन प्लानर्स का हो साथ तो बने बात

  • होलकर राजाओं ने विषय विशेषज्ञों के साथ हमेशा खींचा विकास का खाका
  • सरकारी सेटअप से सोच के दायरे को लाना होगा बाहर
  • शहर के प्रबुद्धजन भी कर रहे मांग

इंदौर

Updated: January 26, 2022 12:44:50 am

अभिषेक

इंदौर. किसी भी शहर का समग्र विकास वहां के लोगों का सपना होता है। इसलिए जब भी भविष्य की प्लानिंग होती है तो आमजन यही चाहता है कि वह उस दौर की जरूरतों की कसौटी पर खरा उतरे। इंदौर के इतिहास में भी यही समग्रता रची बसी है, होलकर राजाओं ने जब भी विकास का खाका खींचा तो गणमान्यों के साथ विषय विशेषज्ञों (अर्बन प्लानर्स) को भी मंथन में शामिल किया। इसका नतीजा रहा कि नगरीय शैली की परंपरा यहां वर्षों पूर्व ही जीवंत हो उठी। लेकिन बाद के वर्षों में प्लानिंग को एक सरकारी सेटअप में शामिल कर दिया गया। मास्टर प्लान पर राजनीतिक छवि हावी हो गई। जो प्लान तैयार किए गए, वह भी वर्षों में सही से आकार नहीं ले सके। कहीं राजनीतिक प्रतिष्ठा आड़े आई तो कभी अफसरों की लेटलतीफी भारी पड़ गई।
दरअसल, एक बार फिर इंदौर अपना मास्टर प्लान तैयार कर रहा है। 20३५ के हिसाब से विकास की प्लानिंग, शहर की संरचना का खाका खींचने की तैयारी है। ऐसे में जरूरी है कि जब इस प्लानिंग के लिए मंथन हो तो उसमें अर्बन डवलपर्स भी शामिल हों। देश-विदेश से उन विशेषज्ञों को शामिल किया जाए, जिनकी समझ भविष्य के इंदौर को बेहतर बना सके। इस संबंध में शहर के प्रबुद्धजन शासन से पहले ही मांग कर चुके हैं। ये भविष्य के इंदौर को लेकर बैठकों का दौर जारी रखे हुए हैं।
master_plan.jpg
  • भविष्य के इंदौर से उम्मीदें
    दरअसल, भविष्य के इंदौर को पूरा देश एक आदर्श के रूप में देखना चाहता है। यहां उद्यम-व्यापार, रोजगार, शिक्षा का हब होगा। आइटी सेक्टर में भी इंदौर एक आस है। ऐसे में जरूरी है कि जब यहां का मास्टर प्लान तैयार हो, इन सेक्टर के स्पेशलिस्ट भी शामिल हों।
संचालक को लिखा पत्र
20३5 को दृष्टिगत रखते हुए तैयार होने वाले मास्टर प्लान को लेकर इंदौर के प्रबुद्धजनों में खासा उत्साह है। इंदौर उत्थान अभियान ने इसको लेकर ड्राफ्ट भी तैयार किया है। काफी अध्ययन के बाद प्रजेंटेशन में भविष्य की जरूरतों और उसके समाधान को बताया। इस संबंध में अध्ययन दल के अध्यक्ष अजीत सिंह नारंग ने संचालक नगर-ग्राम निवेश विभाग को पत्र भी लिखा है। उन्होंने पत्र में लिखा है, इंदौर विकास योजना की अवधारणा वृहद क्षेत्रीय परिवेश, महानगरीय पृष्ठभूमि एवं सुदृढ़ नगरीय, उपनगरीय परिवहन संरचना पर आधारित हो। इंदौर की प्रमुख सामाजिक, रचनात्मक एवं तकनीकी संस्थाओ के वरिष्ठ जनों एवं विशेषज्ञों ने गहन अध्ययन के पश्चात एक विस्तृत रिपोर्ट तैयार की है। इसका विस्तृत अध्ययन कर मास्टर प्लान तैयार किया जाना अधिक सुसंगत होगा। इस विषय में एक सार्थक निर्णय लेने के लिए अध्ययन दल के कुछ प्रमुख सदस्य आपसे मिलकर चर्चा करना चाहते हैं।
होलकर राजाओं ने कुछ ऐसे बनाई थी योजना

  • 1912 में नगर के विस्तार, जल-मल निकासी की योजना तैयार करने के लिए एचबी लंकास्टर को आमंत्रित किया था। इसके बाद नगर के विस्तार व सुधार के लिए शहर का पहला मास्टर प्लान बनाने की शुरुआत 1918 में तुकोजीराव होलकर तृतीय ने की थी। इसके लिए सर पेट्रिक गिडिज को आमंत्रित किया था। उन्होंने शहर की विकास परियोजना व उपनगरीय विकास योजना तैयार की थी।
  • 19३8 में महाराजा यशवंतराव होलकर द्वितीय ने नगर के नियोजित विकास में सलाहकार के तौर पर बांबे सरकार के भूमापक आरएचवी स्टैम्पर को बुलाया गया। इसके बाद यह प्रक्रिया जारी रही, हर 10 साल में इसे तैयार करना तय हुआ।

आधुनिक इंदौर का मास्टर प्लान
आधुनिक इंदौर का मास्टर प्लान 1974 से 1991 विकास योजना के रूप में तैयार हुआ। इसके बाद विकास योजना 1991 बनी, जो विवादों के कारण लागू नहीं हो सकी। वर्तमान मास्टर प्लान 2008 में लागू किया गया। इसकी अवधि दिसंबर 2021 में समाप्त हो गई।
अब यह कवायद

मास्टर प्लान-20३5 तैयार किया जा रहा है। इसके लिए प्रक्रिया जारी है। इसमें 79 नए गांव शामिल करके शहर का विस्तार क्षेत्र 880 वर्ग किमी किया गया है। इसे डिजिटली तैयार किया जा रहा है। नया मास्टर प्लान 40 लाख आबादी के आधार पर तैयार किया जा रहा है।
महानगर की तरह बने
इंदौर लगातार बढ़ता शहर है। मेट्रो के लिए इंदौर को मेट्रोपॉलिटन एरिया घोषित किया गया है। इसमें इंदौर के साथ राऊ, महू, पीथमपुर व बेटमा को शामिल किया है। मास्टर प्लान शहर व इससे लगे निवेश क्षेत्र के लिए तैयार हो रहा है, जबकि पीथमपुर व बेटमा क्षेत्र के कुछ हिस्सों में पीथमपुर का मास्टर प्लान लागू रहेगा। शहर का समग्र मास्टर प्लान तैयार होना चाहिए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

यहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतियूपी में घर बनवाना हुआ आसान, सस्ती हुई सीमेंट, स्टील के दाम भी धड़ामName Astrology: पिता के लिए भाग्यशाली होती हैं इन नाम की लड़कियां, कहलाती हैं 'पापा की परी'इन 4 राशियों के लड़के अपनी लाइफ पार्टनर को रखते हैं बेहद खुश, Best Husband होते हैं साबितजून में इन 4 राशि वालों के करियर को मिलेगी नई दिशा, प्रमोशन और तरक्की के जबरदस्त आसारमस्तमौला होते हैं इन 4 बर्थ डेट वाले लोग, खुलकर जीते हैं अपनी जिंदगी, धन की नहीं होती कमी1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्ससंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

बड़ी खबरें

सेना का 'मिनी डिफेंस एक्सपो' कोलकाता में 6 से 9 जुलाई के बीचGujrat कांग्रेस के वरिष्ठ नेता का विवादित बयान, बोले- मंदिर की ईंटों पर कुत्ते करते हैं पेशाबRajya Sabha Election 2022: राजस्थान से मुस्लिम-आदिवासी नेता को उतार सकती है कांग्रेस'तुम्हारे कदम से मेरी आँखों में आँसू आ गए', सिंगला के खिलाफ भगवंत मान के एक्शन पर बोले केजरीवालसमलैंगिकता पर बोले CM नीतीश कुमार- 'लड़का-लड़का शादी कर लेंगे तो कोई पैदा कैसे होगा'Women's T20 Challenge: वेलोसिटी ने सुपरनोवास को 7 विकेट से हरायानवजोत सिंह सिद्धू को जेल में मिलेगा स्पेशल खाना, कोर्ट ने दी अनुमतिSSC घोटाले के बाद अब बंगाल में नर्सों की नियुक्ति में धांधली, विरोध प्रदर्शन के बीच पुलिस और स्टूडेंट्स में हुई झड़प
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.